रहस्यमयी :इस अनोखे गांव में पैदा होती हैं सिर्फ अप्सराएं !

उदय दिनमान डेस्कः: रहस्यमयी :इस अनोखे गांव में पैदा होती हैं सिर्फ अप्सराएं ! आप इस गांव को रहस्यमयी नहीं कहेंगे तो और क्या कहेंगे। इस गांव में पिछले दस सालों से सिर्फ लड़कियां ही पैदा हो रही हैं। यहां लड़कों की संख्या नगण्य है। इसलिए इस गांव को सोशल मीडिया पर अप्सराओं का गांव की संज्ञा यूजर दे रहे हैं। चलिए जानते है इस गांव के बारे में विस्तार से-

इस गांव के बारे में जानने से पहले आपको बता दें कि कुछ दिनों पूर्व उत्तराखंड में एक रिपोर्ट आयी थी कि कुछ गांवों में सिर्फ लड़के पैदा हो रहे हैं। यह चैकाने वाला समाचार जब मीडिया में आया तो आनन-फानन में सरकार ने जांच करवायी तो पता चला कि लड़कियों को पैदा होने से पहले ही मार दिया जाता है। वही यह गांव जहां लड़कियां ही हो रही है यहां तो ऐसा नहीं है। चलिए आपको बताते है रहस्यमयी अनोखे गांव के बारे में-

क्या आपने किसी ऐसे गांव के बारे में सुना है, जहां सिर्फ बेटियां पैदा होती हों? जी हां, पोलैंड और चेक रिपब्लिक की सीमा पर एक ऐसा अनोखा गांव बसा है, जहां सिर्फ लड़कियां ही पैदा होती हैं। इस गांव में पिछले नौ सालों से कोई भी लड़का पैदा नहीं हुआ है।


इस गांव का नाम है मिजेस्के ओद्रजेनस्की। यहां आखिरी बार साल 2010 में एक लड़के का जन्म हुआ था, लेकिन उसके बाद लड़का और उसके परिवार वाले गांव छोड़कर दूसरी जगह चले गए। यहां की आबादी फिलहाल 300 के करीब है, जिसमें लड़कियों और महिलाओं की संख्या ज्यादा है और लड़के न के बराबर है।

गांव वालों के मुताबिक, वो इसकी वजह नहीं जानते कि आखिर क्यों यहां सिर्फ लड़कियां ही पैदा होती हैं। हालांकि पोलैंड की राजधानी वारसॉ के एक विश्वविद्यालय ने इस रहस्य को जानने के लिए रिसर्च शुरू कर दिया है।


वारसॉ की मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रफाल प्लोस्की का कहना है कि गांव में लड़के पैदा नहीं हो रहे, यह अनोखी घटना तो है ही, साथ ही काफी चिंता की भी बात है। उनका कहना है कि इस रहस्य को सुलझाना आसान नहीं है।

इसके लिए गांव के सभी पुराने रिकॉर्ड देखने पड़ेंगे। इसके अलावा लड़कियों के मां-बाप के बीच कोई पिछला संबंध है या नहीं, यानी वो कहीं दूर के रिश्तेदार तो नहीं हैं, यह भी जानने की जरूरत होगी।

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *