ठंड से राहत नहीं, पहाड़ों पर बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश

देहरादून/ नई दिल्ली। मौसम विभाग ने उत्तर भारत के कई इलाकों में 27 जनवरी से 29 जनवरी तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी। वहीं, विभाग का पूर्वनुमान सही भी साबित हुआ। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के साथ ही बर्फबारी का अलर्ट था। यहां भी जमकर बर्फबारी हुई।

मौसम विभाग ने सोमवार और मंगलवार को दिल्ली में बारिश का अनुमान लगाया था। वहीं, दिल्ली-एनसीआर में रात 1:30 बजे के बाद से रुक-रुक कर हो रही बारिश से मौसम का मिजाज बदल गया है। रातभर हुई झमाझम बारिश से जहां सड़कों पर पानी भर गया, वहीं वाहन चालकों को दिक्कत पेश आ रही है। वहीं, दिल्ली के दिलशाद गार्डन में बारिश के साथ ओले भी पड़े।

हिमाचल प्रदेश में मौसम ने एक बार फ‍िर करवट बदल ली है। मौसम विशेषज्ञों की चेतावनी सही साबित हुई व प्रदेशभर में बारिश का दौर शुरू हो गया है। आधी रात से निचले क्षेत्र में बारिश और ऊपरी इलाकों में बर्फबारी शुरू हो गई है। बारिश और बर्फबारी के कारण ठंड फ‍िर प्रचंड हो गई है।

पंजाब में सुबह-सुबह हल्की बूंदाबांदी से ठंडक बढ़ गई है और पारा भी लुढ़क गया है। सप्ताह के पहले दिन सोमवार से शुरू हुआ हल्की बूंदाबांदी का दौर मंगलवार को भी जारी है। इस कारण ठंडक का एहसास एक बार फिर बढ़ गया है। मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटों में तेज बारिश की संभावना जताई है। सोमवार को अधिकतम तापमान 17 तथा न्यूनतम 11 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

उत्तराखंड में चारधाम समेत उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। मैदानी इलाकों में बारिश ने भी गिराया है पारा। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के साथ ही उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी हुई। पहाड़ से मैदान तक देर रात बारिश शुरू हो गई। इससे एक बार फिर तापमान में गिरावट आ गई। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक प्रदेश में 31 जनवरी तक मौसम का मिजाज बदला हुआ रहेगा।

आसमान में बादल छा गए, जबकि मैदानी क्षेत्रों में कोहरे से जनजीवन प्रभावित रहा। इस बीच चारों धाम के साथ ही चमोली के गोरसो, उत्तरकाशी में हर्षिल और दयारा के आसपास की पहाड़ि‍यों पर रुक-रुक कर हिमपात हो रहा है।

दूसरी ओर मसूरी, पौड़ी, रुद्रप्रयाग में बारिश शुरू हो गई है। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि आने वाले दिनों में मौसम का मिजाज तल्ख रहेगा। इस दौरान 2000 मीटर की ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी की संभावना है। वहीं निचले इलाकों में बारिश और ओलावृष्टि हो सकती है।

आपको बता दें कि सर्दी से अब फरवरी के पहले सप्‍ताह में ही हल्‍की राहत मिलेगी। इस बार बीते सालों की तुलना में सर्दी का मौसम ज्‍यादा रहा है। इसके कारण लोगों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इस बार ठंड ने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए। बीच में कुछ दिन मौसम ठीक रहता, लेकिन बारिश और तेज हवाओं से फिर ठंड बढ़ जाती है। इस बार भी सही वैसा ही हुआ। पिछले दो दिनों से ठंड से राहत थी, लेकिन मंगलवार रात से ही बारिश ने पारा एक बार फिर गिरा दिया। पहाड़ों पर जबरदस्त बर्फबारी के साथ दिल्ली-NCR में रातभर बारिश हुई। ठंड ने लोगों का जीना मुहाल किया हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *