समाज से भ्रष्टाचार रूपी रावण को भी हटाने की जरूरत

देहरादून: मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत विजयदशमी के अवसर पर डोईवाला में आयोजित 32 वें रावण दहन कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। उन्होंने रावण को अधर्म तथा भ्रष्टाचार का प्रतीक बताते हुए कहा कि समाज से भ्रष्टाचार रूपी रावण को भी हटाने की जरूरत है। उन्होंने विजयदशमी की शुभकामना देते हुए भगवान राम के आदर्शों का अनुसरण करने पर बल दिया।

उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत व सामाजिक जीवन में भगवान राम ने जो मर्यादायें स्थापित की हैं वह समाज को सदैव प्रेरणा प्रदान करता रहेगा। मुख्यमंत्री ने रामलीला के माध्यम से भगवान राम के जीवन चरित्र से समाज को दिशा देने के लिये डोईवाला में पिछले 41 वर्षों से बंद रामलीला के आयोजन को प्रतिवर्ष आयोजित करने तथा डोईवाला में भव्य रूप से शरदोत्सव का आयोजन किये जाने का भी आह्वान किया।


मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि डोईवाला को देश की आदर्श विधानसभा बनाने के लिये इस क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए अनेक योजनायें संचालित की जा रही हैं, आने वाले 3 सालों में यहां एक अरब चार करोड़ की योजनायें धरातल पर दिखाई देंगी जिसका लाभ क्षेत्र की जनता को होगा। उन्होंने कहा कि डोईवाला में सीपेट की स्थापना होने से यहां पर युवाओं को रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध होंगे इसके साथ ही रानीपोखरी में लॉ यूनिवर्सिटी, हर्रावाला में कोस्टगार्ड भर्ती सेन्टर व 300 बेड का अस्पताल बनाया जा रहा है।

इस क्षेत्र में शीघ्र ही एक अन्य संस्थान की भी स्थापना की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों को सस्ता ईलाज के साथ ही सस्ती दाल व चांवल आदि उपलब्ध कराया जा रहा है। क्षेत्र की जनता की समस्याओं के समाधान के लिये प्रभावी पहल भी की गयी है।


इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने लकी ड्रा के माध्यम से तीन विजेताओं को पुरूस्कार स्वरूप सामग्री भी प्रदान की।इस अवसर पर मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी धीरेन्द्र पंवार, समिति के अक्ष्यक्ष ललित बाली, उपाध्यक्ष गौरव मित्रा, ओम प्रकाश कम्बोज आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *