6 करोड़ नौकरीपेशा को मिलेगी बड़ी खुशखबरी!

नई दिल्ली. नौकरीपेशा लोगों के लिए इसी एक दो दिन में बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है. पीएफ (PF) खाताधारकों को इस हफ्ते 8.5 फीसदी ब्याज का पैसा मिल सकता है. अगर आप कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के मेंबर हैं तो आपको फायदा होने वाला है. दरअसल, मोदी सरकार ने फिलस्कल ईयर 2020-21 के लिए 8.5 फीसदी ब्याज की मंजूरी दे दी है. अगर मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो जुलाई के अंत में PF का पैसा ट्रांसफर हो सकता है. यानी 31 जुलाई तक PF खाताधारक उम्मीद कर रहे हैं कि उनके पीएफ खाते में पैसा आएगा.

 

श्रम मंत्रालय (Ministry of Labour) की मंजूरी के बाद ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स के खाते में 8.5 फीसदी की दर से पैसे जमा किए जाएंगे. पिछली बार वित्‍त वर्ष 2019-20 में केवाईसी (KYC) में हुई गड़बड़ी के चलते कई सब्सक्राइबर्स को लंबा इंतजार करना पड़ा था. बता दें कि ईपीएफओ ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए ब्याज दरों (Interest on PF) को बिना बदलाव के 8.5 फीसदी पर बरकरार रखने का फैसला लिया था. ये पिछले 7 साल के सबसे निचले स्तर की ब्याज दर है. इससे पहले साल 2012-13 में सरकार ने 8.5 फीसदी की दर से ब्याज दिया था.1 अगर आपका UAN नंबर EPFO के पास रजिस्टर्ड है तो आपके PF के बैलेंस की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएगी. इसके लिए आपको 7738299899 पर EPFOHO लिखकर भेजना होगा. आपके PF की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएगी.

अगर आपको हिंदी भाषा में जानकारी चाहिए तो EPFOHO UAN लिखकर भेजना होगा. पीएफ बैलेंस जानने की यह सेवा अंग्रेजी, पंजाबी, मराठी, हिंदी, कन्नड़, तेलगू, तमिल, मलयालम और बंगाली में मिल रही है.पीएफ बैलेंस के लिए जरूरी है कि आपका UAN, बैंक अकाउंट, पैन (PAN) और आधार (AADHAR) से लिंक होना जरूरी है.मोबाइल नंबर से आपको 011-22901406 पर मिस्ड कॉल देना होगा.इसके बाद EPFO के मैसेज के जरिए PF की डिटेल मिल जाएगी। यहां भी आपका UAN, पैन और आधार लिंक होना जरूरी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उदय दिनमान’ एक वैचारिक आंदोलन भी है। इस आंदोलन का सरोकार आर्थिकी, राजनीति, समाज, संस्कृति, इतिहास व विकास से है। अकेले उत्तराखंड की बात करें तो यह क्षेत्र सदियों से न केवल धार्मिक आस्थाओं का केंद्र रहा है, बल्कि यह क्षेत्र मानव सभ्यता-संस्कृति का उद्गम स्थल भी समझा जाता रहा है। आधुनिक समय में विकास की अवधारणा के जन्म लेने के साथ हिमालयी समाज-संस्कृति को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। ये चुनौतियां हमारी संस्कृति पर निरंतर प्रहार कर इसे गहरा आघात पहुॅचाने में तुली हुई है। हालांकि, सामाजिक, शारीरिक, आर्थिक आदि कष्टों के बावजूद यह संस्कृति अपने ताने-बाने से छिन्न-भिन्न नहीं हो सकी है। मगर निरंतर जारी प्रहारों से एकबारगी चितिंत होना स्वाभाविक है। ‘उदय दिनमान’ का प्रयास है कि राजनीति, समाज, संस्कृति, इतिहास, विकास व आर्थिकी पर निरंतर हो रहे आघातों से जनमानस को सजग रखने का प्रयास किया जाए। यह कहकर हम कोई बड़ा दंभ नहीं भर रहे हैं। यह हमारा मात्र एक लघु प्रयास भर है। हमारी अपेक्षा व आकांक्षा है कि हमारे इस प्रयास में आपकी भागीदारी ही नहीं सुनिश्चित हो, बल्कि आपके विस्तृत अनुभवों, विचारों, सुझावों व गतिविधियों का लाभ ‘उदय दिनमान’ के द्वारा व्यापक जनमानस तक पहुंचे। उक्त क्रम में ‘उदय दिनमान’ के प्रयासों को बल प्रदान करने के निमित आप अपने अनुभवों, सुझावों व विचारों को लेख अथवा यात्रावृत्त, संस्मरण, रिर्पोट, कथा-कहानी, कविता, रेखाचित्र, फोटो आदि के रूप में प्रेषित करने का कष्ट करें। संपर्क करें। https://www.udaydinmaan.com/ संतोष बेंजवाल संपादक कन्हैया विहार, निकट कारगी चैक, देहरादून (उत्तराखंड) udaydinmaan@gmail.com Phone:0135-3576257 Mob:+91.9897094986 Email: udaydinmaan@gmail.com