पशुपालन व्यवसाय हो सकती हैं पलायन रोकने में कारगर सिद्ध

रूद्रप्रयाग: पशु पालन विभाग द्वारा जिलायोजनान्तर्गत ब्लाक स्तरीय पशुप्रदर्शनी का आयोजन जनपद रुद्रप्रयाग के अगस्तमुनि विकास खण्ड के बीना ग्राम पंचायत में आयोजित की गई। पशुप्रदर्शनी की अध्यक्षता श्रीमती गीता देवी ग्राम प्रधान बीना द्वारा की गई। पशुप्रदर्शनी में श्रीमती विजया देवी ब्लॉक प्रमुख मंदाकिनी अगस्तमुनि मुख्य अतिथि, श्रीमती शीला रावत जिला पंचायत सदस्य मरोड़ा बिशिष्ट अतिथि थे।


पशुप्रदर्शनी में लगभग 45 पशु पालकों द्वारा अपने 80 पशुओ के साथ विभिन्न वर्गो में प्रदर्शनी में प्रतिभाग किया। प्रदर्शनी  में गाय वर्ग में श्री भरत सिंह की गाय प्रथम, भूपेन्द्र सिंह रावत की गाय द्वितीय तथा हर्षपति सिंह की गाय तृतीय स्थान पर रही। भैस वर्ग में श्रीमती भागीरथी देवी की भैंस प्रथम, श्री कुलदीप सिंह की भैंस द्वितीय तथा श्री दिनेश सिंह की भैंस तृतीय स्थान पर रही।

बैल जोड़ी में श्री कैलाश सिंह राणा की बैल जोड़ी प्रथम, श्री धर्म सिंह की बैल जोड़ी द्वितीय, तथा श्री जसपाल सिंह की बैल जोड़ी तृतीय स्थान पर रही। बछियाध्हीफर वर्ग में श्री शरद सिंह राणा की बछिया प्रथम, श्री हीरा सिंह रावत की बछिया द्वितीय तथा श्री सुनील सिंह राणा की बछिया तृतीय स्थान पर रही। प्रदर्शनी में डॉ देवेंद्र सिंह राणा, डॉ रवि कुमार तथा डॉ प्रमोद कुमार भूटानी ने निर्णायक की भूमिका अदा की।


ब्लॉक प्रमुख मंदाकिनी श्रीमती विजया देवी ने अपने अध्यक्षीय भाषण में ग्रामीणों को अच्छे नस्ल के पशु पालने की सलाह दी, तथा सुझाव दिया कि पशुपालन व्यवसाय ही उत्तराखंड में पलायन रोकने में कारगर सिद्ध हो सकती हैं। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ रमेश सिंह नितवाल द्वारा अपने सम्बोधन में पशुपालको को पशु पालन विभाग की योजनाओं जैसे पशु बीमा, गोकुल मिशन के अंतर्गत राष्ट्रव्यापी कृत्रिम गर्भाधान, सेक्स शॉर्टेड सीमेन तथा पशुओ की बीमारी से संबंधित जानकारी दी गई।

पशुप्रदर्शनी को सफल बनाने में श्री विनोद पवार, श्री महेंद्र सिंह रावत, श्रीमती सीमा पशुधन प्रसार अधिकारी, श्री राय सिंह पशुधन तथा श्री भरत सिंह रावत रिटायर्ड पशुधन सहायक का विशेष सहयोग रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *