एरिया 51: दुनिया की सबसे रहस्यमयी जगह में बंधक हैं एलियंस!

नेवादा: अमेरिका के नेवादा में स्थित दुनिया की सबसे रहस्यमयी जगह मानी जाती है। फिलहाल यह जगह पूरे सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है, क्योंकि ‘इमर्सिव एंटरटेनमेंट’ नाम की एक कंपनी ने एरिया 51 पर छापा मारने की घोषणा की है, इस आस में कि वहां उसे एलियंस यानी परग्रही देखने को मिलेंगे। कंपनी ने यह भी घोषणा की है कि इस पूरे घटनाक्रम का सोशल मीडिया पर लाइव प्रसारण किया जाएगा।

अमेरिका के नेवादा में सुरक्षा और बुनियादी ढांचे की चिंताओं के कारण एरिया 51 में होने वाले ‘म्यूजिक फेस्टिवल एलियनस्टॉक’ को रद्द कर दिया गया है। ऐसी खबर है कि कुछ लोग इस क्षेत्र में घुसपैठ करने के लिए एकत्रित हो रहे हैं। यह घोषणा भी की गई है कि इस घुसपैठ को सोशल मीडिया पर सजीव प्रसारित किया जाएगा।


एरिया 15 नामक एक ‘इमर्सिव एंटरटेनमेंट’ कंपनी ने एरिया 51 पर छापा मारने की घोषणा की है। कंपनी ने ट्विटर पोस्ट के जरिये अपना बयान जारी किया है, जिसमें बताया गया है कि इस घटना को रिकॉर्ड भी किया जाएगा। कंपनी ने दावा किया है कि एक छोटे समूह ने इस काम में उनका हाथ बंटाने का वादा किया है। इस समूह का दावा है कि एलियंस या परग्रही एरिया 51 में बंधक बनाकर रखे गए हैं और उन्हें स्वतंत्र कराया जाएगा।

एक फेसबुक इवेंट पेज ‘स्टॉर्म एरिया 51 दे कान्ट स्टॉप ऑल ऑफ अस’ के जरिये लोगों को इसमें शामिल होने का आमंत्रण दिया गया है। इस पेज के एडमिन का दावा है कि एरिया 51 के आसपास के क्षेत्रों में काफी संख्या में लोग आने लगे हैं। ‘लास वेगस रिव्यू जर्नल’ के अनुसार नेवादा मार्ग पर माइल स्टोन 375 से कुछ दूर लोगों ने टेंट लगाना शुरू कर दिया है। इन सभी का कहना है कि वो एलियन देखकर ही जाएंगे।

काफी तादाद में लोग नेवादा के इस इलाके में होने वाले संगीत समारोह के बहाने एलियन देखने के लिए जुट गए हैं। हालांकि शहर के प्रशासन ने लोगों से आग्रह किया है कि वे यहां से दूर रहें। गौरतलब है कि इस कार्यक्रम के आयोजकों पर कई मुकदमे चल रहे हैं। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि जिन लोगों ने पैसे देकर इस इवेंट के लिए टिकट खरीदा वो यहां की बदइंतजामी देखकर नाराज हो सकते हैं और अनियंत्रित भी हो सकते हैं।

करीब 20 लाख लोग फेसबुक पर ‘अटेंडिंग एन एरिया 51 एलियन हंटिंग इवेंट’ में दिलचस्पी दिखा रहे हैं. कोई नहीं जानता है कि वे इसे मजाक के तौर पर ले रहे हैं या गंभीरता से. हालांकि इसे लेकर अमेरिकी सेना ने चेतावनी भी जारी की है.

एरिया 51 नेवाडा मरुस्थल के बीच में बना एक गुप्त अमेरिकी सैन्य परिसर है. यहां समय-समय पर अजीब सी दिखने वाली वस्तुओं को कांटेदार तार से घिरे क्षेत्र के ऊपर उड़ते हुए देखा जा सकता है. यह क्षेत्र एक लोकप्रिय साजिश वाले सिद्धांत के हर मापदंडों को पूरा करता है.

कई दशकों से अमेरिकी गुप्त सैन्य परिसर एरिया 51 के बारे में अफवाहें उड़ती आ रही हैं. कुछ लोग यह भी कहते हैं कि अमेरिकी सरकार परिसर में एलियन को छिपाए हुए है. अब करीब 20 लाख लोग उससे आमने-सामने मिलना चाहते हैं या मिलने के लिए कह रहे हैं.

फेसबुक पर 20 सितंबर 2019 एरिया 51 के लिए एक ‘इवेंट’ बनाया गया. इवेंट पेज पर लोग तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं. यूजर्स लिख रहे हैं, ”वे हम सभी को नहीं रोक सकते. अब हम एलियन को देखने चलें.”

इस इवेंट की लोकप्रियता ने पूरी दुनिया में मजाक करने वालों को हैरान कर दिया है. यह ठीक उसी तरह है जैसा साजिश करने वाले चाहते हैं. जिन 19 लाख लोगों ने ‘अटेंडिंग इवेंट’ पर क्लिक किया है, उनमें से सभी गंभीर नहीं हैं. 20 साल के मैटी राबर्ट्स ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर इस इवेंट को बनाया था.

उन्होंने लास वेगस में एक स्थानीय टीवी चैनल से बात करते हुए कहा, “वह सिर्फ एक मजाक था. लेकिन थोड़ा ‘डरावना’ हो गया.” जब पांच लाख लोगों ने उन्हें प्रतिक्रिया के लिए मैसेज किया तो वे डर गए. उन्हें लगा कि एफबीआई की टीम उनके घर आ सकते हैं. वे अब इसके बदले एक त्योहार का आयोजन करने पर विचार कर रहे हैं लेकिन उन्होंने इस मामले पर नियंत्रण खो दिया है.

रॉबर्ट के आइडिया की नकल पूरी दुनिया में की जाने लगी है. फेसबुक पर 10 हजार से ज्यादा सदस्य वाले कई ग्रुप कह रहे हैं कि उनका इरादा एरिया 51 में घुसपैठ करना है. साजिश सिद्धांत की वजह से एरिया 51 पॉप कल्चर में हमेशा के लिए जीवित हो गया. एरिया 51 के बारे में इंडिपेंडेंस डे सहित कई फिल्मों में भी दिखाया गया है. वहीं, 2015 की एक विज्ञान आधारित फिल्म एरिया 51 का यह मुख्य विषय था.

एरिया 51 के बारे में अमेरिकी अधिकारियों ने खुद 2013 में बताया थाा. तब जाकर पुष्टि हुई थी कि ऐसा भी कोई स्थान है. जबकि दूसरे विश्व युद्ध के बाद से ही अमेरिका इसका इस्तेमाल सैन्य और खुफिया योजनाओं को बनाने के लिए कर रहा था. इस जगह पर एलियन की अफवाह अमेरिकी बॉब लजार उड़ाई थी.

उन्होंने 1989 में सैन्य परिसर के समीप यूएफओ पर काम करने का दावा किया था. 2018 में लजार के बारे में एक डॉक्यूमेंट्री भी रिलीज की गई. 2019 के जून महीने में अमेरिकन कॉमेडियन जो रोगन को दिए साक्षात्कार के बाद वे फिर से चर्चा में आ गए. यही वह साक्षात्कार था जिससे प्रभावित होकर मैटी रॉबर्ट ने इवेंट बनाया.

नेवाडा के निवासियों और व्यापारियों ने साजिश सिद्धांत के तहत एलियन को भुनाने का काम किया. यह फेसबुक पर इवेंट बनाने से काफी समय पहले किया गया. इस इलाके के रेस्टोरेंट और होटल एलियन के स्टाइल में बने हुए हैं. यहां ‘ई.टी. बर्गर’ और ‘एलियन टकीला’ बिकता है. 20 सितंबर 2019 के लिए कई सारे होटल पहले ही बुक हो चुके थे. यहां जाने के लिए अमेरिका में सिर्फ एक तथाकथित “एक्सट्राटेरेस्ट्रियल हाईवे” है जिसके माध्यम से पर्यटक जा सकते हैं.

एरिया 51 का तमाशा भी फेसबुक पर मीम बनाने वालों के लिए अच्छा स्रोत है. फेसबुक पर इवेंट बनने के बाद एरिया 51 को लेकर कई सारे मीम बने हैं. सितंबर 20 को लेकर पूरी दुनिया की मीडिया रिपोर्ट बनाने की तैयारी कर रही है लेकिन यह नहीं पता कि इवेंट हुआ या नहीं. इस बीच अमेरिकी सेना ने आधिकारिक तौर पर उन लोगों के लिए चेतावना जारी की है जो इस अति सुरक्षित क्षेत्र में प्रवेश करने की योजना बना रहे हैं.

इस क्षेत्र को एरिया 51 क्यों कहते हैं, इसके बारे में कहीं ज्यादा जानकारी नहीं है. सैन्य परिसर में अंदर क्या होता है, यह भी एक रहस्य ही है. जब तक इस बारे में लोगों को पता नहीं चलेगा, यह रहस्य ही बना रहेगा.

कंपनी का दावा है कि एलियंस या परग्रही एरिया 51 में बंधक बनाकर रखे गए हैं, उन्हें आजाद कराया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस क्षेत्र में घुसपैठ करने के लिए लोग इकट्ठा भी होने लगे हैं। लोगों का कहना है कि वो एलियन देखकर ही जाएंगे। अब ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सच में एरिया 51 में एलियंस को बंधक बनाकर रखा गया है? अगर नहीं तो ये जगह इतनी रहस्यमयी क्यों है और बाहरी लोगों को इस जगह के बारे में कोई जानकारी क्यों नहीं है?


रिपोर्ट्स के मुताबिक, एरिया 51 में अमेरिका का एयर फोर्स बेस है, लेकिन इसके अंदर क्या होता है, यह पूरी तरह से गुप्त रखा जाता है। यहां कई जगहों पर चेतावनी भरे बोर्ड लगे हुए हैं, हर वक्त सीसीटीवी कैमरे से निगरानी होती है। इसके अलावा सशस्त्र गार्ड पूरे इलाके की सुरक्षा में तैनात रहते हैं। यहां तक कि एरिया 51 के ऊपर से विमानों की उड़ान भी प्रतिबंधित है।


बीबीसी के मुताबिक, एरिया 51 को अमेरिका और सोवियत संघ के बीच शीत युद्ध के दौरान विमान के परीक्षण और विकास के लिए बनाया गया था। हालांकि यह साल 1955 में खोला गया था, लेकिन कई सालों तक इस जगह के बारे में लोगों को पता ही नहीं था। पहली बार इसके अस्तित्व को साल 2013 में सीआईए ने आधिकारिक तौर पर स्वीकार किया था। इसके चार महीने बाद तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी सार्वजनिक तौर पर एरिया 51 का जिक्र किया था।


ऐसा माना जाता है कि अमेरिकी सेना अत्याधुनिक विमानों को विकसित करने के लिए एरिया 51 का उपयोग करती है। माना जाता है कि लगभग 1,500 लोग वहां काम करते हैं, जिसमें से कई लोग लास वेगास से चार्टर्ड विमान के जरिए आते हैं। एरिया 51 के आसपास जिस तरह की गोपनीयता है, उससे मन में कई तरह के सवाल पैदा होते हैं।

ऐसा दावा किया जाता है कि साल 1947 में न्यू मैक्सिको के रोसवेल में एलियन का एक अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, उस यान को और उसके पायलटों के शवों को यहां रखा गया है। हालांकि अमेरिकी सरकार का कहना है कि वो कोई एलियन का विमान नहीं था बल्कि एक वेदर बैलून था, जो दुर्घटनाग्रस्त हुआ था।


वहीं कई लोगों का यह भी दावा है कि एरिया 51 के ऊपर या आसपास कई बार यूएफओ को देखा गया है, जबकि कुछ लोगों का यह भी कहना है कि एलियंस ने उनका अपहरण कर लिया था और उनपर कई तरह के प्रयोग किए, फिर बाद में पृथ्वी पर वापस छोड़ दिया।


साल 1989 में रॉबर्ट लेजर नाम के एक व्यक्ति ने दावा किया था कि उसने एरिया 51 के अंदर एलियन तकनीक पर काम किया है। उसने दावा किया था कि उसने एलियंस की मेडिकल तस्वीरें भी देखी हैं। अब बात चाहे जो भी हो, लेकिन एरिया 51 की ‘रहस्यमयी दुनिया’ मन में बहुत सारे सवाल पैदा करती है, जिसका जवाब अब तक आधिकारिक तौर पर कोई नहीं दे सका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *