शिक्षा विभाग के साथ आवश्यक समन्वय स्थापित करने को कहा

रुद्रप्रयाग:जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने शिक्षा के क्षेत्र में विभिन्न संस्थाओं द्वारा की जा रही गतिविधियों का जायजा लिया। शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने संस्थाओं के प्रतिनिधियों को शिक्षा विभाग के साथ आवश्यक समन्वय स्थापित करने को कहा।

जिला कार्यालय में आयोजित बैठक के दौरान जनपद में शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रही परख अभ्यास, संपर्क, राॅकेट व अजीम प्रेम जी फाउंडेशन के प्रतिनिधियों ने पीपीटी के माध्यम से जिलाधिकारी को बेहतर व गुणवत्तापरक शिक्षा को लेकर किए जा रहे प्रयासों से अवगत कराया।

संपर्क संस्था के प्रतिनिधि प्रकाश रावत ने बताया कि संपर्क संस्था द्वारा पहली से 5वीं कक्षा तक के नौनिहालों को अंग्रेजी व गणित विषय की किट वितरित की जाती हैं ताकि इन विषयों पर शुरूआत से ही बच्चों की मजबूत पकड़ बन सके जिस पर जिलाधिकारी ने वितरित की जा रही किट का उचित प्रबंधन व उपयोग सुनिश्चित किए जाने हेतु निर्देश दिए।

इसी तरह परख अभ्यास की सोनाली ने बताया कि संस्था द्वारा जनपद की कक्षा 4 से 10वीं तक के बच्चों की सीखने के प्रतिफलों के आधार पर साप्ताहिक मूल्यांकन किया जाता है। राॅकेट के अमित बिष्ट ने कहा कि संस्था अभिभावकों की सक्रियता व सहभागिता पर विशेष ध्यान देती है। बताया कि पहली व दूसरी कक्षा में पढ़ रहे बच्चों का व्हट्स ग्रुप बनाते हुए उनकी निरंतर माॅनीटरिंग की जाती है।

कहा कि विकास खंड अगस्त्यमुनि के 247 में 131 विद्यालय, जखोली के 159 में 90 जबकि ऊखीमठ के 106 में 72 विद्यालयों को अभी तक इससे जोड़ा जा चुका है। जिसका वास्तविक निरीक्षण हेतु जिलाधिकारी ने शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया। अजीम प्रेम जी फाउंडेशन के दीपक ने बताया कि संस्था द्वारा कोविड काल में प्रभावित हुई शिक्षा की रिकवरी पर कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि इसके लिए शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ विकास खंड जखोली व अगस्त्यमुनि में बैठक कर रूप रेखा तैयार कर ली गई है। जिलाधिकारी ने सभी संस्था के प्रतिनिधियों को शिक्षा की बेहतरी हेतु जनपद के विद्यालयों पर विशेष फोकस करने को कहा। साथ ही शिक्षा विभाग के अधिकारियों से निरंतर समन्वय स्थापित करने को कहा।

इस अवसर पर मुख्य शिक्षा अधिकारी यशवंत सिंह चैधरी सहित संपर्क, राॅकेट, परख अभ्यास व अजीम प्रेम जी फाउंडेशन संस्था के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.