बारिश ने बरपाया कहर: 22 की मौत, मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका

  • देवेंद्र फड़णवीस ने हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के प्रति संवेदना जताई है।
  • मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने 5 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है।
  • महाराष्ट्र सरकार ने 2 जुलाई को मुंबई, नवी मुंबई, थाणे और कोंकण इलाके के सभी सरकारी और निजी स्कूलों के लिए अवकाश घोषित किया है।
  • भारी बारिश के बाद सोमवार आधी रात 12:30 बजे कल्याण में राष्ट्रीय उर्दू विद्यालय की दीवार गिरने से 3 लोगों की मौत हो गई, जबकि एक घायल हो गया।
  • मौसम विभाग की और से भारी बारिश की चेतावनी के बाद महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) की ओर से लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी गई है। इमरजेंसी हालात में ही घर से निकलने को कहा गया है।
  • मुंबई में बारिश की वजह से करीब 54 विमानों को नजदीकी हवाईअड्डों की तरफ मोड़ा गया है।

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में भारी बारिश से जबरदस्त तबाही की खबर है. रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र में सिर्फ मंगलवार रात में तीन जगह दीवारें गिरी हैं. इन तीनों घटनाओं में 22 लोगों की मौत हुई है.

दीवार गिरने की घटना मलाड ईस्ट, कल्याण और पुणे में हुई है. मलाड ईस्ट में 12 लोगों की मौत की खबर है, जबकि कल्याण में 3 लोग दीवार की चपेट में आकर मारे गए हैं, पुणे में सिंहगढ़ कॉलेज की दीवार गिरने से 6 लोगों की मौत हुई है. ये घटनाएं आधी रात के आस-पास की हैं. इन हादसों में मरने वाले लोगों के परिजनों के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 5-5 लाख के मुआवजे का ऐलान किया है.

मुंबई में बारिश से भारी तबाही की खबर आ रही है. ताजा जानकारी के मुताबिक मलाड इस्ट के पिंपरी पाड़ा में मूसलाधार बारिश की वजह से एक दीवार गिर गई. इस हादसे में 12 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 13 लोग घायल हो गए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक अभी भी कई लोगों के मलबे में दबे होने की खबर है.

इन्हें भारी बारिश के बीच कचड़े से निकाला जा रहा है. NDRF की टीम घटनास्थल पर पहुंच गई है और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है. लेकिन मुंबई में लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है. घायलों को जोगेश्वरी के ट्रमा सेंटर और कांदिवली के शताब्दी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. स्थानीय लोगों का कहना है कि फायर ब्रिगेड और एनडीआरएफ की टीमों के पहंचने से पहले ही स्थानीय लोगों ने कुछ लोगों को बचाया.

भारी बारिश से दीवार गिरने की दूसरी घटना रात साढ़े बारह बजे मुंबई से सटे कल्याण में हुई है. यहां पर नेशनल उर्दू हाई स्कूल की कम्पाउंड की दीवार गिरने से 3 लोगों की मौत हो गई. इस दीवार के बगल में कुछ लोग रहते थे. इस दीवार के मलबे की चपेट में ये लोग आ गए. इस हादसे में 4 लोग घायल हो गए हैं.

पुलिस, फायर ब्रिगेड और रेस्क्यू की टीम घटनास्थल पर पहुंच गई है. रेस्क्यू टीम ने मलबे में से 4 लोगों को निकाला, इनमें से 3 की मौत हो चुकी थी. मरने वालों में 3 साल की एक बच्ची भी शामिल है. हादसे में घायल हुए लोगों का इलाज कल्याण के रुक्मिणी बाई अस्पताल में चल रहा है.

मात्र तीन दिन पहले दीवार गिरने से 15 लोगों की दर्दनाक मौत का गवाह बनने वाले पुणे में देर रात एक बार फिर दीवार गिरी. इस हादसे की चपेट में आकर 6 लोगों की मौत हो गई है जबकि 4 लोग घायल हो गए हैं. ये हादसा पुणे के सिंहगढ़ कॉलेज की दीवार गिरने से हुआ है. ये कॉलेज अम्बेगांव में स्थित हैं.

घटनास्थल पर NDRF की टीम पहुंच गई है और मलबे में दबे लोगों को निकाला जा रहा है. पिछले कुछ दिनों में पुणे में जबर्दस्त बारिश हो रही है. आज भी महाराष्ट्र के मुंबई, पुणे, पालघर में भारी बारिश का अनुमान है. खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने सार्वजनिक छुट्टी की घोषणा कर दी है.

मुंबई में भारी बारिश, बाढ़ का गंभीर खतरा
मुंबई में सोमवार (1 जुलाई) को सुबह भारी बारिश हुई और इसके बाद शहर में कई स्थानों पर पानी भर गया जिसकी वजह से ट्रैफिक जाम भी हुआ और ट्रेनों की आवाजाही पर भी असर पड़ा। हालांकि निकाय प्रशासन जगह-जगह जल भरने की जिम्मेदारी नहीं लेना चाह रहे हैं। नगरपालिका आयुक्त प्रवीण परदेशी ने बताया कि दो दिनों में 540 मिमी बारिश हुई जो पिछले एक दशक में दो दिन में हुई सबसे ज्यादा बारिश है। मौसम विभाग ने आसपास के इलाकों ठाणे और पालघर में दो, चार और पांच जुलाई को ‘बेहद भारी बारिश की आशंका जाहिर की है।

निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट ने बताया कि मुंबई में तीन जुलाई से पांच जुलाई के बीच ‘बाढ़’ का गंभीर खतरा है । इस दौरान 200 मिमी या इससे ज्यादा बारिश हर दिन होगी, जो कि आम जनजीवन में बाधा पहुंचाएगी। निकाय अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को रात 10 बजकर 54 मिनट पर 3.84 मीटर तक ऊंची लहरें उठेंगी। उन्होंने लोगों से इस दौरान समुद्र के निकट नहीं जाने की चेतावनी दी है। यह ऊंची लहरें पृथ्वी और चांद के बीच गुरूत्वाकर्षण के खिंचाव की वजह से है।

वेस्टर्न घाट सेक्शन के करजात और लोनावाला के बीच सोमवार को तड़के एक मालवाहक ट्रेन पटरी से उतर गई जिससे पुणे और पश्चिमी महाराष्ट्र की ओर जाने वाली लंबी दूरी की कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *