बद्री गाय के गोबर से धूप तैयार तैयार करना सिखाया

रुद्रप्रयाग:भारतीय स्टेट बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आरसेटी) रुद्रप्रयाग द्वारा विकास खंड ऊखीमठ, रुद्रप्रयाग की ग्राम सभा देवली भणीग्राम में राष्ट्रीय आजिविका मिशन के तहत बने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को दस दिवसीय प्रशिक्षण का गुरुवार को समापन हो गया है। प्रशिक्षण के दौरान महिलाओं ने होमेड़ अगरबत्ती सहित हर्बल धूप, लोकल जड़ी बुटियों से तैयार होने वाली धूप, बद्री गाय के गोबर से धूप तैयार तैयार करना सिखाया गया।
आरसेटी रुद्रप्रयाग द्वारा देवली भणीग्राम की महिलाओं को दस दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान मास्टर टेªनर किरन नेगी द्वारा महिलाओं को अगर बत्ती, हर्बल धूप, बद्री गाय के गोबर से निर्मित धूप बनाना सिखाया गया। साथ ही उन्हें पैकिंग ग्रेडिंग, आदि भी सिखाई गई।

संस्थान के निदेशक के.एस. रावत द्वारा महिलाओं को बैंकिंग योजनाओं व सामाजिक सुरक्षा योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, अटल पेंशन, एम.एस.वाई. पी.एम.ई0जी.पी. योजनाओं सहित कई सरकारी योजनाओं की जानकारी दी गई, वहीं प्रशिक्षक वीरेन्द्र बत्र्वाल द्वारा भी महिलाओं को उद्यमशीलता और मार्केटिंग, मूल्यसंवर्धन, कार्ययोजना तैयार करने की जानकारी दी गई। कार्यक्रम के समापन अवसर शाखा प्रबंधक ने महिला समूह को ऋण, के.सी.सी., सी.सी.एल., वित्तीय साक्षरता जानकारी दी।

विकास खंड ऊखीमठ के साहयक खंड विकास अधिकारी जे.एल.आर्य द्वारा महिलओं को एन.आर.एल.एम. के तहत चलने वाली विभिन्न गतिविधियों से अवगत कराया। ऊखीमठ ब्लाॅक के बी.एम.एम. मनोज कोठारी ने कहा कि यदि महिलाएं धूप अगरबत्ती का निमार्ण बृहद स्तर मेें करती हैं तो एन.आर.एल.एम. टीम उसे मार्केट करने का भी काम करेगी साथ ही केदारनाथ प्रसाद में महिलाओं द्वारा बनायी गयी धुप को शामिल किया जा सकता है।

आरसेटी निदेशक किशन सिंह रावत  द्वारा बताया गया कि एन0आर0एल0एम0 की महिला बाद उन्हें रोजगार से जोड़ने का हर सम्भव प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि रुद्रप्रयाग जनपद में केदारनाथ, मद्धमहेश्वर, तुंगनाथ, कोटेशवर, कालीमठ, कार्तिक स्वामी आदि कई पर्यटक स्थल हैं जहां  लाखों की संख्या में यात्री आते हैं। यात्रा का मुख्य पड़ाव होने से यहां व्यवसाय की अपार संभावनाएं हैं।

कार्यक्रम के समापन अवसर पर ग्राम प्रधान ज्योति देवी ने कहा कि महिलाओं ने प्रशिक्षण बहुत ही अच्छे ढंग से प्राप्त किया तमाम घरेलु कार्य होनें के बावजूद भी महिलाओं ने इस प्रशिक्षण में प्रतिभाग जारी रखा इस अवसर पर प्र्रशिक्षण ले रही दुलारी देवी, कान्ति देवी, सिद्धी देवी,चेतना देवी, संगीता देवीए विनीता देवी, स्मिता देवी पुनम देवी, मीरा देवी, सरिता देवी, भारती देवी, बीना देवी, उषा देवी प्रेमकला सोनिया देवी, मंजू देवी, आदि महिलाएं उपस्थित थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.