बड़ा फैसला: 31 मार्च तक देश में नहीं चलेगी कोई पैसेंजर ट्रेनें

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के कारण भारतीय रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है। भारतीय रेलवे ने आज 22 मार्च मध्यरात्रि से 31 मार्च तक सभी ट्रेनें रद करने का फैसला लिया है। इस दौरान केवल मालगाड़ी ही चलेंगी।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू का अह्वान किया था। रेलवे भी इसमें पूरी जिम्मेदारी के साथ भूमिका निभा रहा है। इस अभूतपूर्व पहल के मद्देनजर रेल मंत्रालय ने शनिवार रात 12 बजे से रविवार रात 10 बजे के बीच देश में रेल यातायात को पूरी तरह बंद रखने का निर्णय लिया।

रेलवे पहले ही अधिकांश ट्रेनों को रद कर चुका है। रेलवे द्वारा जारी एक नए आदेश के अनुसार, केवल मालगाड़ियां 22 मार्च की मध्यरात्रि से 31 मार्च की मध्यरात्रि तक चलेंगी। हालांकि, कुछ उपनगरीय सेवाएं और कोलकाता मेट्रो रेल सेवा 22 मार्च की मध्यरात्रि तक जारी रहेंगी। इसके बाद, इन सेवाओं को 31 मार्च की मध्यरात्रि तक रोक दिया जाएगा। भारतीय रेलवे के एक प्रवक्ता ने इसकी जानकारी दी है।

रेल मंत्रालय ने अधिकारियों से प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से लोगों को इसकी जानकारी देने का आदेश दिया है। इसके अलावा इसके बारे में जानकारी यात्रियों को एसएमएस के माध्यम से भी देने की बात कही गई है। देश के विभिन्न हिस्सों में आवश्यक आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए, माल गाड़ियों की आवाजाही जारी रहेगी।

पीएम मोदी ने रविवार सुबह सात से रात नौ बजे तक जनता क‌र्फ्यू का आह्वान किया है। उन्होंने इस दौरान सभी से घरों के भीतर रहने की अपील की है। रेल मंत्रालय की ओर जारी निर्देश के अनुसार, 21-22 मार्च की तय अवधि के दौरान कोई भी जोन अपने यहां से कोई ट्रेन नहीं चलाएगा।

इससे पहले शनिवार तक, रेलवे ने देशभर में 245 जोड़ी ट्रेनों को रद कर दिया था। देश में कोरोना वायरस के मामले में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिल रहा है। भारत में अभी तक 341 मामलों की पुष्टि हो गई है। वहीं छह लोगों की इससे मौत हो गई है।

बता दें कि जनता कर्फ्यू के कारण ट्रेनें निरस्त करने के बाद रेलवे ने यात्रियों को सहूलियत भी दी है। यात्रियों का पूरा किराया वापस होने के साथ-साथ ट्रेन छूटने की तिथि से 45 दिन तक टिकट रद हो सकेगा।

वहीं, आइआरसीटीसी वेबसाइट पर बने ई- टिकट के रिफंड के नियम में कोई बदलाव नहीं किया गया है।मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि 21 से लेकर 15 अप्रैल तक निरस्त रहने वाली ट्रेनों की यात्रा अवधि से 45 दिन तक टिकट कैंसल हो सकेंगे।

इस दौरान यदि कोई ट्रेन निरस्त नहीं है और यात्री यात्रा नहीं करना चाहते हैं, तो 30 दिन के अंदर टिकट डिपोजिट रिसिप्ट (टीडीआर) स्टेशन पर जमा कर सकते हैं। किराया वापस हो जाएगा। इसके अलावा जो यात्री अपना टिकट 139 के जरिये निरस्त करते हैं वे यात्रा तिथि के 30 दिन के अंदर टिकट काउंटर से किराया वापस ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *