बदरी-केदार मंदिर समिति से विदा हुए सीईओ बीडी सिंह

पीसीएस योगेंद्र बने नए मुख्य कार्यकारी अधिकारी
अध्यक्ष अजेंद्र अजय की पहल पर हुआ फैसला**

देहरादून। मंगलवार को धामी सरकार ने पीसीएस अफसर योगेंद्र सिंह को श्री बदरीनाथ -केदारनाथ मंदिर समिति का नया मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) बनाया है। पीसीएस अफसर योगेंद्र सिंह के पास इस वक्त केदारनाथ विकास प्राधिकरण में अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी और केदारनाथ उत्थान चैरिटेबिल ट्रस्ट में संयुक्त सचिव का भी दायित्व है। कार्मिक विभाग ने इसके आदेश जारी किए हैं। इसके साथ ही बद्री-केदार मंदिर समिति के चर्चित सीईओ बीडी सिंह की सरकार ने आखिरकार विदाई कर ही दी।

राज्य वन सेवा के अफसर रहे बीडी सिंह दस साल से भी अधिक समय से तमाम नियमों के खिलाफ सीईओ के पद पर बने हुए थे। कई कामों को लेकर वे आए दिन चर्चा में रहते थे। उनके खिलाफ गढ़वाल मंडलायुक्त के पास एक गंभीर जांच भी लंबित है। कुछ माह पहले सिंह को उनके मूल विभाग में भेजने का आदेश भी किया गया था। लेकिन अपनी पहुंच के चलते उन्होंने सीईओ का पद नहीं छोड़ा था।

इधर, सिंह के कामों से समिति के अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों में भी आक्रोश था। बताया जा रहा है कि इस मामले में समिति अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने सीधे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से भेंट की तो धामी ने उन्हें तत्काल हटाने का आदेश दिया।

लेकिन सिंह अपनी पकड़ के चलते इस आदेश को भी कई रोज तक रुकवाए रहे। इसके बाद अजेंद्र ने मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधू से मुलाकात कर इस बारे में आदेश जारी करवाने का आग्रह किया। इसके बाद मंगलवार को कार्मिक विभाग ने इस बारे में आदेश जारी कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.