चारधाम रूट भूस्खलन से बंद, जगह-जगह फंसे यात्री

देहरादून: उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश से नेशनल हाईवे सहित कई सड़कें बंद हो गईं हैं। चारधाम यात्रा रूट पर बदरीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री हाईवे बंद होने से तीर्थ यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। हाईवे और सड़कों के बंद होने से दोनों ओर गाड़ियों की लाइनें लग गईं।

प्रशासन द्वारा बंद सड़कों को खोलने का कार्य किया जा रहा है, लेकिन खराब मौसम और लगातार हो रही बारिश बाधा बनी हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, ऋषिकेश-बदरीनाथ मार्ग पर कोड़ियाला शिवपुरी और तीन पानी के पास मलबा गिरने से मार्ग बाधित हो गया था।

मार्ग बाधित होने से विभिन्न स्थानों पर यात्री फंसे हैं। चारधाम यात्रियों को ऋषिकेश में ही रोक दिया गया था। गंगोत्री हाईवे भी मलबा गिरने से बाधित हो रहा है। नेशनल हाईवे के कर्मचारी मलबा हटाने में जुट गए हैं लेकिन लगातार मलबा गिरने से दिक्कत आ रही है। उधर, बदरीनाथ हाईवे पर लगभग 3 घंटे बाद वाहनों की आवाजाही शुरू हो पाई है।

शिवपुरी के पास से मार्ग खोल दिया गया है, जबकि तीन पानी के पास मलबा हटाया जा रहा है। एनएच के सहायक अभियंता एसके द्विवेदी के मुताबिक लगातार मलबा गिरने से मार्क फिर बाधित हो सकता है इसलिए वाहनों को विभिन्न स्थानों पर रोककर आगे भेजा जा रहा है।

मौसम विभाग ने उत्तराखंड में बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है। पूर्वानुमान की बात मानें तो शुक्रवार और शनिवार के लिए पर्वतीय जिलों के लिए भारी से बहुत भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। हरिद्वार, देहरादून, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, टिहरी जिलों में कहीं कहीं भारी बारिश की संभावना को लेकर यलो अलर्ट है। बिजली गिरने व चमकने को लेकर भी कहीं कहीं ऑरेंज अलर्ट है।

भारी बारिश और खराब मौसम के बीच तीर्थ यात्रियों का उत्साह कम होने का नाम नहीं ले रहा है। देश के विभिन्न राज्यों से श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखी जा रही है। चारधाम में जाने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए सरकार ने पंजीकरण अनिवार्य किया है।

गंगोत्री धाम के दर्शन कर लौट रहे महाराष्ट्र के एक यात्री की चिन्यालीसौर के एक होटल में हृदय गति रुकने से मौत हो गई। थानाध्यक्ष धरासू ऋतुराज ने बताया कि गुरुवार को गंगोत्री धाम के दर्शन के बाद चिन्यालीसौड़ के एक होटल में महाराष्ट्र के पूना शहर के शरद गहलोत पुत्र हरिभाव गहलोत्त उम्र 62 वर्ष अपने परिवार के साथ रुके थे।

रात लगभग 11 बजे शरद गहनोत्त के सीने में अचानक दर्द हुआ। परिवार के लोगो ने उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिन्यालीसौड़ ले गए लेकिन, अस्पताल आने से पहले ही शरद ने दम तोड़ दिया।पुलिस ने मृतक को पोस्टमार्डम के लिए जिला चिकित्सालय भेज दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.