उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ छठ महोत्सव संपन्न

देहरादून : उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही आज सोमवार को चार दिनी छठ महोत्सव का सोमवार भोर विधिवत समापन हुआ‌। छठ व्रती महिलाओं ने 36 घंटे का निर्जला व्रत रख नाना प्रकार के पकवान और मौसमी फलों से सूर्यदेव को अर्घ्य दिया। घर और परिवार की खुशहाली की कामना की।

द्रोण नगरी में विभिन्न स्थानों पर उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के लिए बनाए गए घाट पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी रही। श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना कर परिवार की सुख-समृद्धि की कामना की और उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया।

घाटों पर श्रद्धालु बाजे गाजे के साथ सूर्य को अर्घ्य देने पहुंचे। विधि-विधान से पूजा करने के साथ ही घाट छठ माता के जयकारे से गूंज उठे। भजन संध्या का दौर चलता रहा। घाटों की सजावट देखते ही बन रही थी।

श्रद्धालुओं की अलग-अलग टोलियां टोकरियों में पूजा सामग्री लेकर सूर्य को अर्घ्य देने के लिए पहुंची थीं। श्रद्धालुओं ने परिवार की सुख-समृद्धि की कामना की। वहीं, सूर्य को अर्घ्य देने के बाद महिलाओं ने व्रत खोला। वहीं छठ पूजन की छटा पूरे उत्‍तराखंड में दिखाई दी। ऋषिकेश में व्रत पारायण पूर्ण होने पर त्रिवेणी घाट गंगा तट पर सुहागिनों ने एक दूसरे के सिंदूर लगाया।

हरिद्वार के हरकी पैड़ी समेत अन्य गंगा घाटों पर तड़के बड़ी तादाद में छठ व्रती पहुंचे और कमर भर जल में खड़े होकर सूर्य भगवान के उदय होने का इंतजार करते दिखे।पौ फटते ही घाटों पर आतिशबाजी शुरू हो गई। श्रद्धालुओं ने सूर्यदेव को अर्घ्य देकर एक दूसरे को छठ महापर्व की शुभकामनाएं दीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.