जन विश्वास खो चुकी कांग्रेस की पद यात्रा और गाड़ी यात्रा व्यर्थ:भट्ट

देहरादून :भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री महेंद्र भट्ट ने उत्तराखण्ड कांग्रेस की यात्रा में लगातार सरकार पर लगाये जा रहे आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि विश्वसनीयता शून्य व सिद्धांतविहीन कांग्रेस पार्टी की बातों पर अब कोई भरोसा नही करता। लिहाज़ा राहुल गांधी की पदयात्रा और उनके स्थानीय नेताओं की गाड़ी यात्रा सब व्यर्थ है ।

उन्होंने कहा, धामी सरकार भ्रष्टाचार उन्मूलन, अपराध नियंत्रण व विकास को लेकर ऐतिहासिक कार्य कर रही है लेकिन लगता है कांग्रेस ने कसम खाई हुई है कि न अच्छा देखेंगे, न अच्छा सुनेंगे, न ही अच्छा कहेंगे । हमने दिल्ली के छावला प्रकरण में तत्कालीन मनमोहन सरकार के कार्यकाल की तरह जांच में गंभीर लापरवाही नही की और अंकिता प्रकरण में 24 घंटे में दोषियों को सलाखों के पीछे भेजकर गैंगस्टर लगाया और फ़ास्ट ट्रेक कोर्ट में केस सुनिश्चित करवाया ।

प्रदेश अध्यक्ष श्री भट्ट ने अपने बयान में आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व सीएम श्री हरीश रावत, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व अन्य पार्टी नेताओं को भाजपा सरकार द्वारा किए शानदार कार्य और सफलता हजम नहीं हो रहे है । जबकि सर्वविदित है, राज्य के इतिहास में पहली बार भ्रष्टाचार के मामलों में रिकॉर्ड गिरफ्तारी के साथ पारदर्शी एवं सख्त कार्यवाही हुई है ।

इतना साथ ही निचली अदालत और हाईकोर्ट में भी पैरवी कर सरकार यह सुनिश्चित कराने के लिए कटिबद्ध है कि आरोपी सलाखों के पीछे रहे और उन्हे कठोरतम सजा दिलवाई जाए । विकास कार्यों को लेकर जनता की संतुष्टि हरिद्वार के त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के परिणामों में देखी जा सकती है जहां आज कांग्रेस की यात्रा थी ।

उन्होने कहा, अंकिता मर्डर केस को लेकर भी कांग्रेस नेता निराधार आरोप लगा रहे हैं जबकि सभी दोषियों को सरकार गैंगस्टर लगाकर न्यायिक प्रक्रिया से कड़ी से कड़ी सजा दिलाने में जुटी है । वहीं दिल्ली के छावला में उत्तराखंड की बेटी के साथ हुई दुखद व नृसंश घटना में पीड़ित परिजनों को न्याय दिलाने की कड़ी में धामी सरकार केंद्र से सम्पर्क में है और सभी जरूरी कानूनी उपायों को अमल में लाने के लिए प्रतिबद्ध है ।

श्री महेन्द्र भट्ट ने कहा कि कांग्रेस बेटियों के साथ हुए अपराधों को लेकर राजनीति कर रही है । उन्होंने कहा जब कांग्रेस बात छेड़ ही रही है तो दूर तलक जानी चाहिए, क्योंकि 2012 में जब छावला में देवभूमि की बेटी के साथ कुकृत्य के समय कांग्रेस की सरकार के अधीन तत्कालीन दिल्ली पुलिस ने जांच में की गयी लापरवाही के चलते ही सुप्रीम कोर्ट ने आरोपियों को बरी किया। वहीं उत्तराखंड सरकार अंकिता केस में शीघ्र निर्णय के लिए फ़ास्ट ट्रेक कोर्ट में ले गयी और इससे पूर्व दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करते हुए गैंगस्टर एक्ट लगाया व समय से सभी जरूरी सबूत पुलिस ने एकत्र किये ।

प्रदेश अध्यक्ष ने अपने बयान में कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस को भारत जोड़ो से पहले कांग्रेस जोड़ो यात्रा निकालनी चाहिए, क्योंकि उनके शीर्षस्थ नेता न किसी जनसेवा संबंधित विषय पर एक राय रखते हैं न किसी राजनैतिक मंच पर एक साथ नज़र आते हैं, कम से कम उनके अब तक के कार्यक्रमों व भावी आंदोलनों की तस्वीर तो यही दर्शाती है।

उन्होंने यात्रा के दौरान कांग्रेसियों का गाड़ी से फटाफट भागने की खबरों पर व्यंग कसते हुए कहा कि उनके राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी पदयात्रा करें या उनके स्थानीय नेता गाड़ी यात्रा करें कोई फर्क नहीं पड़ने वाला क्योंकि जनता उन्हें पहचानकर पूरी तरह नकार चुकी है

Leave a Reply

Your email address will not be published.