कोरोनाः उत्तराखंड में 928 नए मामले, 13 की मौत

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना वायरस का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। हालांकि, राहत की बात है कि संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। शुक्रवार को रिकॉर्ड 1488 लोग ठीक हुए हैं, जबकि 928 मामले सामने आए हैं।

सबसे ज्यादा 203 संक्रमित देहरादून से हैं। इसके अलावा 173 नैनीताल, 117 ऊधमसिंह नगर, 107 पौड़ी गढ़वाल, 87 हरिद्वार, 65 चमोली, 51 अल्मोड़ा, 33 टिहरी गढ़वाल, 30 चंपावत, 24 उत्तरकाशी, 21 बागेश्वर, 13 रुद्रप्रयाग, चार पिथौरागढ़ से हैं।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, सरकारी व निजी लैब से प्राप्त 9766 सैंपल की रिपोर्ट में 9082 निगेटिव आई हैं। पिछले दस दिन में यह पहली बार है, जब राज्य में एक दिन में दस हजार से कम जांच हुई। देहरादून में सर्वाधिक 161 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ऊधमसिंह नगर में 131 लोग संक्रमित मिले हैं। अल्मोड़ा में भी कोरोना ने कहर बरपाया है।

यहां कोरोना संक्रमण के 114 नए मामले मिले हैं, जिनमें धौलादेवी ब्लॉक के काभड़ी गांव में ग्राम प्रधान समेत 91 की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गया। उत्तराखंड में यह पहली बार है, जब किसी गांव में एक साथ इतनी अधिक संख्या में कोरोना संक्रमित मिले हैं।

हरिद्वार में 80 नए मामले मिले हैं। नैनीताल में भी 58 लोग संक्रमित पाए गए। इसके अलावा उत्तरकाशी में 42, पौड़ी में 32, पिथौरागढ़ में 27, चमोली में 17, रुद्रप्रयाग में 14, चंपावत में पांच और बागेश्वर में तीन व्यक्ति संक्रमित मिले हैं।

प्रदेश में रिकवरी दर 72.41 फीसद पहुंच गई है। गुरुवार को 313 ऊधमसिंह नगर, 227 नैनीताल, 191 देहरादून, 113 हरिद्वार, 65 पौड़ी, 58 उत्तरकाशी, 28 पिथौरागढ़, 20 चमोली, 10 चंपावत, पांच टिहरी व एक मरीज अल्मोड़ा में डिस्चार्ज किया गया।

कोरोना संक्रमितों की मौत का आंकड़ा सिस्टम की बेचैनी बढ़ा रहा है। पिछले कुछ वक्त से हर दिन औसतन 10 से 12 मरीज दम तोड़ रहे हैं। गुरुवार को भी 12 मरीजों की मौत हुई। इनमें एम्स ऋषिकेश में छह मरीजों की मौत हुई है। हल्द्वानी स्थित डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में तीन मरीजों ने दम तोड़ दिया।

वहीं, बेस अस्पताल श्रीनगर में एक मरीज की मौत कोरोना से हुई है। इसके अलावा दून मेडिकल कॉलेज में भी एक मरीज की मौत हुई है। इसके साथ ही प्रदेश में अब संक्रमितों की मौत का आंकड़ा 542 पहुंच गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *