रिटायरमेंट से छह महीने पहले ही होगी दस्तावेजों की जांच

देहरादून : पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन ऑफ उत्तराखंड लिमिटेड (पिटकुल) में सेवानिवृत्त होने से छह महीने पहले ही कर्मचारी के सभी कागजातों की जांच की जाएगी। ताकि रिटायरमेंट के बाद उसकी पेंशन व अन्य देयकों के भुगतान में देरी न हो। रविवार को अवकाश के बावजूद पिटकुल के एमडी ने मानव संसाधन विभाग की समीक्षा बैठक बुलाई। बैठक में उन्होंने सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए विशेष निर्देश दिए। उन्होंने साफ किया कि रिटायरमेंट के छह माह पहले ही दस्तावेज की जांच अनिवार्य होगी।

रिटायरमेंट के दिन कर्मचारी को उसके उपार्जित अवकाश का चेक भेंट किया जाएगा। रिटायरमेंट के 15 दिन के भीतर जीपीएफ का भुगतान सुनिश्चित किया जाएगा। रिटायरमेंट के 15 दिन के भीतर ही पेंशन से जुड़े कागज तैयार कर कोषागार में भेजने होंगे। वहीं, कार्यरत कर्मचारियों के लिए उन्होंने कहा कि उपार्जित अवकाश और जीपीएफ भुगतान को आवेदन करने वाले अधिकारी का आवेदन पत्र 15 दिन के भीतर स्वीकृत करते हुए धनराशि स्वीकृत की जाएगी।

अगर उसमें कोई त्रुटि होगी तो एक सप्ताह के भीतर उसे दूर कराना होगा। उन्होंने 31 दिसंबर तक विभाग की सभी पदोन्नतियां पूरी करने के निर्देश दिए। इसके तहत अवर अभियंता से सहायक अभियंता की चयन समिति की बैठक 14 नवंबर को होगी। कार्यालय सहायक, कार्यालय सहायक लेखा से सहायक लेखाकार की पदोन्नति परीक्षा आठ दिसंबर, विभागीय व्यावसायिक परीक्षा नौ दिसंबर को होगी।

परिचालकीय वर्ग से अवर अभियंता के पदों पर पदोन्नति प्रस्तावित नियमावली या पुरानी व्यवस्था के आधार पर करने के संबंध में प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। बैठक में अशोक जुयाल, विवेकानंद, आनंद मोहन नेगी, कमल नेगी, इमरान खान, सोहन ध्यानी, शफाकत हुसैन आदि अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.