Exit Polls : केजरीवाल की प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में धमाकेदार वापसी

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे भले मंगलवार को आएंगे मगर तमाम एक्जिट पोल के अनुमानों से साफ है कि आम आदमी पार्टी लगभग प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में धमाकेदार वापसी कर रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पक्ष में साफ दिख रही लहर पर सवार आप सूबे में 50-60 से भी अधिक सीटें हासिल कर सकती है।

एक्जिट पोल के अनुमानों के अनुसार जनता केजरीवाल के काम और चुनावी वादों पर पूरी तरह मुहर लगाती दिख रही है। वहीं शाहीन बाग के जबरदस्त विरोध के इर्द-गिर्द केंद्रित भाजपा का राष्ट्रवाद का धुआंधार चुनावी अभियान एक्जिट पोल में धराशायी दिखाई दे रहा है।

वहीं केजरीवाल की इस आंधी में कांग्रेस की जमीन दिल्ली में पूरी तरह लूटने के करीब पहुंच गई है। दिल्ली में वोटिंग के बाद सभी टीवी चैनलों के एक्जिट पोल नतीजों ने एक सुर में अरविंद केजरीवाल की दिल्ली की सत्ता में धमाकेदार वापसी का अनुमान जाहिर किया है।

सटीक चुनावी आकलन के लिए चर्चित आजतक-एक्सिस के एक्जिट पोल के अनुसार आम आदमी पार्टी को दिल्ली में करीब 56 फीसद वोटों के साथ 59-68 सीटें मिलने का अनुमान है। जबकि भाजपा पिछले विधानसभा चुनाव के बाद करीब तीन फीसद मत बढ़ाते हुए 35 फीसद वोट हासिल कर रही है। लेकिन इसके बाद भी भाजपा को केवल 2 से 11 सीटें ही मिलने की उम्मीद है। जबकि कांग्रेस का पिछले चुनाव की तरह इस बार भी खाता खुलने की उम्मीद नहीं है।

कांग्रेस के लिए गहरी चिंता की बात यह भी है कि पिछले चुनाव के मुकाबले उसका वोट प्रतिशत भी लगभग आधा होता हुआ पांच प्रतिशत तक सिमटता दिख रहा है। एक्जिट पोल के इन आंकड़ों से साफ है कि कांग्रेस का वोट बैंक पूरी तरह केजरीवाल के खाते में शिफ्ट हो गया है और इसीलिए आप के सीटों की संख्या 2015 के चुनाव के आस-पास फिर से पहुंच सकती है।

एबीपी-सी-वोटर एक्जिट पोल में भी केजरीवाल की लहर का अनुमान लगाया गया है और इसके अनुसार आप को कम से कम 49 से लेकर अधिकतम 63 सीट मिलने की संभावना जताई गई है। भाजपा को 5 से 19 सीट मिलने की उम्मीद है तो कांग्रेस को इसमें शून्य से चार सीट के बीच अटकता हुआ आंका गया है।

अंग्रेजी चैनल टाइम्स नाउ-आइपीएसओएस के एक्जिट पोल में आप को 47 सीटों के साथ सत्ता मिलते हुए दिखाया गया है तो भाजपा को इसमें सबसे अधिक 23 सीटें मिलने की उम्मीद जताई गई है। इसके अनुमान में भी कांग्रेस का खाता खुलने की संभावना नहीं है।

न्यूज एक्स-नेता के एक्जिट पोल में आप को 53 से 57, भाजपा को 11 से 17 तो कांग्रेस को शून्य से दो सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है।

रिपब्लिक चैनल के एक्जिट पोल में भी केजरीवाल की आंधी चलने का अनुमान लगाया गया है जिसमें करीब 52 फीसद वोटों के साथ आप को 48-61 सीटें जीतते हुए दिखाया गया है। भाजपा को 38 फीसद वोट के साथ 9 से 21 सीटें जीतने की स्थिति में आंका गया है। तो कांग्रेस को पांच फीसद वोट के साथ अधिकतम एक सीट मिलने की गुंजाइश है।

एक्जिट पोल के सभी अनुमानों से स्पष्ट है कि दिल्ली में दलित-मुसलमान, गरीब, छात्रों ही नहीं मध्यम वर्ग और महिलाओं का भी जबरदस्त समर्थन मिलता दिख रहा है। चुनाव नतीजों के इस अनुमान से यह भी साफ है कि मुफ्त बिजली,पानी, महिलाओं की मुफ्त बस यात्रा, वाई-फाई के साथ दिल्ली में शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र में केजरीवाल सरकार के कामों पर लोगों ने न केवल मुहर लगाई है बल्कि इन्हें आगे जारी रखने के आप के वादे पर भी भरोसा किया है। भाजपा का आक्रामक राष्ट्रवादी प्रचार तो कांग्रेस का रोजगार दिलाने और दिल्ली की पुरानी विरासत लौटाने के वादे को जनता ने पूरी तरह से ठुकरा दिया है।

राजधानी के कई इलाकों में दिनभर पोलिंग बूथों पर वोटरों की लंबी कतारें देखी गई। वोटिंग खत्म होने के बाद 668 उम्मीदवारों का भविष्य अब ईवीएम में कैद हो गया है। वोटिंग पर नजर डाले तो शुरुआत धीमी रही। हालांकि दोपहर बाद मतदान की रफ्तार बढ़ने लगी थी। कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़ दें तो मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ।

छिटपुट घटनाओं की बात करे तो अपना वोट देकर निकलीं कांग्रेस उम्मीदवार अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता द्वारा अभद्र टिप्पणी किए जाने पर थप्पड़ चला दिया। मामले को लेकर अलका लांबा ने कहा है कि आप कार्यकर्ता ने मुझपर अभद्र टिप्पणी की थी। मैं पुलिस का धन्यवाद करती हूं कि उसे तुरंत गिरफ्तार किया।

पार्टी सीट वोट शेयर

आप 67 54.30%

भाजपा 3 32.10%

कांग्रेस 0 9.60%

कई हस्तियों ने किया मतदान

चुनाव में कई ब़़डी हस्तियों ने बढ़- चढ़कर हिस्सा लिया।

  • दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने परिवार के साथ सिविल लाइन्स में स्थित पोलिंग बूथ पर वोट डाला।

-कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने निर्माण भवन स्थित मतदान केंद्र में वोट डाला।

  • कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने औरंगजेब लेन स्थित एनपी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में अपने मत का प्रयोग किया।
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने पति रॉबर्ट वाड्रा और बेटे रेहान वाड्रा के साथ लोधी स्टेट इलाके में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पहली बार वोट डालने पहुंचे रेहान वाड्रा ने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय परीक्षा के कारण वह मतदान नहीं कर पाए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *