सैनिक शहीद के परिजनों को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया

पौड़ी:जनपद पौड़ी गढ़वाल के विकासखंड पोखड़ा में आज शहीद सम्मान यात्रा का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के जलागम, पर्यटन, सिंचाई, लोक निर्माण, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज ने बतौर मुख्य अथिति के रूप में शिरकत कर, वीर सैनिकों के आंगन से पवित्र मिट्टी कलश को श्रद्धांजलि अर्पित की तथा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्हांेने वीर सैनिक शहीद के परिजनों को ताम्रपत्र भेंट करते हुए, शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया।

आयोजित कार्यक्रम में विकासखण्ड पोखड़ा, बीरोंखाल, एकेश्वर तथा नैनीडांडा के 74 शहीद सैनिकों के परिजनों को सम्मानित किया गया। वहीं मा. मंत्री ने लाभार्थी को मुख्यमंत्री राहत कोष के चेक भी वितरित किये। साथ ही उन्होंने स्वयं सहायता समूहों, एनसीसी कैडेट्स तथा स्कूली छात्र-छात्राओ को पुरस्कृत किया। मा. मंत्री ने जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास कार्यालय लैंसडाउन के साज-सज्जा व फर्नीचर के लिए 10 लाख देने की घोषणा की है। इस दौरान मा. मंत्री के आगमन पर छोलिया नृत्य, स्कूली बच्चों, व स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा स्वागत गीत गाकर भव्य स्वागत किया गया।

मा. पर्यटन मंत्री श्री महाराज ने आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा शहीद सम्मान यात्रा पूरे प्रदेश में चल रही है, उसका समापन 07 दिसंबर को देहरादून में किया जाएगा। देहरादून में भव्य सैन्य धाम बनाया जाएगा, जिसमें प्रदेश के सभी शहीद सैनिकों के नाम अंकित किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में पांचवां धाम सैन्य धाम को बनाया जा रहा है, जिसके लिए प्रदेश के शहीदों के आंगन की पवित्र मिट्टी को एकत्रित कर देहरादून ले जाया जा रहा है। कहा कि शहीदों के बलिदान को हम सदैव याद रखेंगे। कहा कि एक सैनिक एक परिवार का ही बेटा नहीं बल्कि देश का बेटा होता है। राज्य सरकार ने शहीद के परिवार के एक सदस्य को नौकरी लगाने का फैसला लिया है। कहा कि शहीद सम्मान यात्रा पूरे राज्य में आयोजित हो रही है।

कहा कि जल्द ही सैन्य धाम का कार्य प्रारम्भ कर भव्य रूप में विकसित किया जाएगा। शहीद सैनिकों के परिवार के साथ सरकार खड़ी है। उन्होंने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार लगातार विकास की ओर कार्य कर रही है। कहा कि प्रदेश भर में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है, जिससे लोगों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। साथ ही क्षेत्र में सड़क पहुंच जाने से लोग स्वरोजगार अपनाकर अपनी आर्थिकी मजबूत बना सकेंगे। कहा कि लोक कलाकारों को चिन्ह्ति कर पहचान पत्र जारी किया जाएगा, यह पहचान पत्र संस्कृति विभाग उत्तराखण्ड द्वारा दिए जायेंगे।

इसी पहचान पत्र पर पेन नम्बर, आधार नम्बर, आय एवं अन्य सभी विवरण उपलब्ध होंगे, यह परिचय पत्र कलाकारों को सभी प्रकार की सुविधाऐं दिलाने में कारगर सिद्ध होगा। कहा कि सांस्कृतिक कलाकारों का मानदेय व यात्रा भत्ता बढ़ाया गया। वहीं आंगनबाड़ी, आशा, उत्तराखंड राज्य  आंदोलनकारियों एवं चिन्हित राज्य आंदोलनकारियों, ग्राम प्रधान, उप प्रधान,क्षेत्र पंचायत तथा जिला पंचायत सदस्यों का मानदेय भी बढ़ाया गया। उन्होंने कहा कि राजकीय स्कूलों के 10वीं व 12वीं के छात्र-छात्राओं को निशुल्क टेबलेट वितरित किया जाएगा। सरकार द्वारा परिवहन व पर्यटन विभागों के लिए आर्थिक पैकेज भी दिया गया गया है।

उन्होंने कहा कि तीलू रौतेली पुरस्कार की धनराशि को बढ़ाया गया है। उन्होने कहा कि चौबट्टाखाल के अंतर्गत पर्यटन सर्किट तथा पर्यटन विश्राम गृह बनाया जा रहा है। कहा कि दीन दयाल उपाध्याय होमस्टे योजना व वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली योजना के अंतर्गत सब्सिडी देकर ऋण दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विकासखण्ड पोखड़ा भवन का निर्माण कार्य प्रगति पर है, जिससे कर्मचारियों को काफी सुविधा प्राप्त हो सकेगी। कहा कि कोरोना काल मे जो विकास कार्य रुक गया था उन्हें फिर से गति दी गयी है तथा कोरोना काल मे घर- घर राशन पहुंचाई गयी है।

जिला सैनिक कल्याण अधिकारी लैंसडाउन ओम प्रकाश फर्स्वाण ने बताया कि चारधाम के अलावा देहरादून में पांचवां सैन्य धाम बनाया जाएगा। प्रदेश भर में शहीदों के आंगन से पवित्र मिट्टी एकत्रित कर सैन्य धाम में उपयोग की जाएगी। उन्होंने राज्य सरकार का धन्यवाद करते हुए कहा कि सैन्य धाम बनाने हेतु सरकार द्वारा बेहतर फैसला लिया गया है। कहा कि शहीदों को शहादत को हम भूल नही सकते हैं। आयोजित कार्यक्रम में संस्कृति विभाग के कलाकारों व छात्रों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तुति दी गयी।

इस अवसर पर इस ब्लॉक प्रमुख एकेश्वर नीरज पांथरी, ब्लॉक प्रमुख पोखड़ा प्रीती देवी, ग्राम प्रधान राजपाल रावत, पूर्व सांसद प्रतिनिधि पुष्कर जोशी, मण्डल अध्यक्ष महिपाल सिंह, प्राचार्य महाविद्यालय पोखड़ा डॉ लवली रानी, सी एम ओ प्रवीन कुमार, जिला पर्यटन विकास अधिकारी खुशाल सिंह नेगी, खण्ड विकास अधिकारी पोखड़ा ओम प्रकाश, खण्ड विकास अधिकारी वीरोखाल नरेश चन्द्र सुयाल, एसडीओ मुकेश कुमार सहित शहीदों के परिजन व ग्रामीण उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.