बसों में यात्रियों की मारामारी

देहरादून : दीपावली के बाद भैयादूज को लेकर रोडवेज बस एवं ट्रेनों में मारामारी मची रही। इस साल भैयादूज दीपावली के तीसरे दिन यानी गुरुवार को मनाया जा रहा, लेकिन यात्रियों की भीड़ में मंगलवार को कोई कमी दिखाई नहीं दी। बुधवार को भी इसी तरह की स्थिति होने की संभावना है।

बहनों के घर जाने को आतुर लोग और दीपावली मनाकर वापस लौटने वालों की भीड़ ने आइएसबीटी और रेलवे स्टेशन को खचाखच भर दिया। रोडवेज की सारी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो गई। बसों में मारामारी मची रही। यात्रियों में धक्का-मुक्की के साथ ही हाथापाई भी हुई।

बसों के अंदर स्थिति यह दिखी कि सीट तो दूर पांव तक रखने की भी जगह नहीं थी। इससे बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों को खासी परेशानी उठानी पड़ी। अतिरिक्त बसें भी यात्रियों के लिए कम पड़ी।

दीपावली मनाने के बाद मंगलवार दोपहर से ही आइएसबीटी पर भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। जो बस खाली मिली, यात्री उसी में सवार हो गए। देर शाम तक मारामारी शुरू हो गई। लोग खिड़की से ही अपना सामान सीटों पर रखकर सीट घेरने लगे।

जब कोई अंदर उनसे पहले पहुंचकर उक्त सीट पर बैठ गया तो दोनों पक्षों में विवाद भी हुए। ज्यादातर भीड़ दिल्ली के साथ ही गाजियाबाद, मेरठ, मुजफ्फरनगर, रुड़की, सहारनपुर जाने वालों की रही। हल्द्वानी व नैनीताल जाने वालों की भी खासी संख्या रही।

परिवहन निगम के महाप्रबंधक दीपक जैन ने बताया कि सभी बस अड्डों पर हर श्रेणी की बसों की अतिरिक्त व्यवस्था रखी गई है। बुधवार से लेकर रविवार तक यात्रियों की भीड़ रहने का अनुमान है। सभी डिपो के अधिकारियों को अपने डिपो में मौजूद रहने के आदेश दिए गए हैं। जिस मार्ग पर बस की जरूरत होगी, वहां अतिरिक्त बस भेजी जाएंगी। दिल्ली आइएसबीटी पर भी अतिरिक्त बसें खड़ी की गई हैं।

यूं तो लंबी दूरी पर जाने वाले ज्यादातर यात्री दीपावली से पहले ही घर निकल गए थे, लेकिन भैयादूज के चलते मंगलवार को भी ट्रेनें पैक रहीं। ज्यादा भीड़ दिल्ली और नजीबाबाद-बिजनौर रूट पर रही। हालात ये हुए कि लिंक एक्सप्रेस, मसूरी एक्सप्रेस सहित हावड़ा एक्सप्रेस की सामान्य बोगी में पांव रखने की जगह नहीं मिली। बताया जा रहा कि दिल्ली जाने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस में वेटिंग 250 के पार थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.