भारी बारिश का येलो अलर्ट

नई दिल्ली: देश के कई हिस्सों में मानसून की गतिविधियां बनी हुई हैं और दो से तीन दिनों तक यूपी, उत्तराखंड सहित कई राज्यों में भारी बारिश का कहर बरसने वाला है। मौसम विभाग (IMD) के अनुसार, ओडिशा, छत्तीसगढ़, विदर्भ और पूर्वी मध्य प्रदेश में अगले दो से तीन दिनों तक भारी बारिश होगी। इसके पीछे ओडिशा और पश्चिम बंगाल के इलाके में बना कम दबाव का क्षेत्र है।

मौसम विभाग ने आज यानी बुधवार के लिए 24 राज्यों में येलो अलर्ट जारी किया है। दिल्ली व आसपास के मौसम की बात करें तो यहां अगले कुछ दिनों तक बादल छाए रहेंगे। कुछ इलाकों में बरसात होने के आसार है। बुधवार को अधिकतम तापमान 34.7 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 24.6 डिग्री रहने का अनुमान है।

मौसम विभाग के मुताबिक, बुधवार को यूपी, उत्तराखंड, अरुणाचल, असम, मणिपुर, ओडिसा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश व महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इन राज्यों में गरज-चमक और तेज हवा के साथ बारिश होगी।

मौसम विभाग के मुताबिक आज यानी बुधवार को जम्मू-कश्मीर, हिमाचल, हरियाणा, राजस्थान के कुछ हिस्से, बिहार, झारखंड, पश्चिम, बंगाल, सिक्किम, मेघालय, नगालैंड, मिजोरम, त्रिपुरा, तमिलनाडु, केरल में गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। कुछ राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

उत्तर प्रदेश में बीते तीन दिनों से बादलों की आवाजाही तो बनी है लेकिन छिटपुट बारिश के बाद बादल गायब हो रहे हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार 26 सितंबर तक पूर्वी उत्तर प्रदेश के लगभग सभी जिलों के साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश की ओर भी हल्की से मध्यम बरसात हो सकती है। मौसम विभाग ने बुधवार को कई पूर्वांचल के कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

उत्तराखंड मौसम विभाग ने आगामी 4 दिनों के लिए बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं-कहीं गरज के साथ बारिश या आकाशीय बिजली चमकने के साथ तेज बारिश की संभावना जताई गई है। 21 सितंबर को उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर पिथौरागढ़ नैनीताल और चंपावत में कहीं-कहीं भारी बारिश की चेतावनी दी गई है।

22 सितंबर को देहरादून, टिहरी, बागेश्वर, पिथौरागढ़ में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई। 23 और 24 सितंबर को उत्तराखंड राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में तेज बौछार की संभावना जताई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.