पाठ्यक्रम का हिस्सा होगा राज्य आंदोलन का इतिहास: सीएम

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी राज्य स्थापना दिवस पर आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेंगे। वह ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण भी जाएंगे जहां भराड़ीसैंण विधानसभा परिसर में आयोजित राज्य स्थापना दिवस समारोह में शामिल होंगे।

बुधवार सुबह स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सबसे पहले कचहरी स्थित शहीद स्मारक स्थल पहुंचे। यहां उन्होंने शहीदों को नमन किया। इसके बाद सीएम धामी देहरादून पुलिस लाइन पहुंचकर रैतिक परेड में शामिल हुए। वहीं राज्यपाल ले.जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) रैतिक परेड की सलामी ली।

इस मौके पर सीएम धामी ने कहा कि पाठ्य पुस्तकों में आंदोलन का इतिहास शामिल होगा। साथ ही उन्होंने वाले समय 19 हजार से ज्यादा भर्तियां कराने की बात कही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन के तहत 21वीं सदी का तीसरा दशक उत्तराखंड का होगा।

हम इसे 2025 तक देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाएंगे। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने राज्य को 2025 तक हर क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने के लिए विकल्प रहित संकल्प का मूलमंत्र अपनाया है।

राज्य स्थापना दिवस पर राज्यपाल ने जनता से दो संकल्प मांगे। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक नियमों का पालन करें और उत्तराखंड को स्वच्छता का रोल मॉडल बनाना है। हर घाट गली और गांव को साफ रखना है। इसके लिए सभी को साथ आना होगा।

सीएम धामी ने आपदा में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने कहा की राज्य की सरकार सुरक्षित पर्यटन की ओर काम कर रही है। इस साल चारधाम यात्रा में भी रिकॉर्ड यात्री आए हैं। आगामी तीन महीने में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन नीति बनाई जाएगी। इसके अलाव मुख्यमंत्री ने वर्तमान सरकार की उपलब्धियों को गिनाया।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेशवासियों को राज्य स्थापना दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में प्रदेश में मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी पर अभूतपूर्व काम हुआ है।

इसका प्रभाव आने वाले समय में प्रदेश के सामाजिक और आर्थिक विकास के रूप में दिखेगा। सड़क और रेल कनेक्टिविटी से पहाड़ के लोगों की जिंदगी आसान होगी। पहाड़ के उत्पाद रोजगार के नए द्वार खोलेंगे।

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि उत्तराखंड के युवा हमारा भविष्य हैं। इसीलिए हमने युवाओं के साथ धोखा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है। भर्तियों में घोटाला करने वालों पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जा रही है। वर्तमान में जारी भर्ती कैलेंडर के मुताबिक, सात हजार पदों पर भर्ती प्रक्रिया गतिमान है।

हमारी सरकार राज्य में खेल और खिलाड़ियों के प्रोत्साहन देने के लिए नई खेल नीति लाई है। 8 से 14 वर्ष के उभरते खिलाड़ियों को 1500 रुपये प्रतिमाह खेल छात्रवृत्ति भी दी जा रही है। भ्रष्टाचार पर रोक लगाने को भ्रष्टाचार मुक्त एप-1064 लांच किया गया है। राज्य के वीरता पदक से सम्मानित सैनिकों को देय एकमुश्त अनुदान में भी वृद्धि की गई है।

इसके बाद मुख्यमंत्री भाजपा प्रदेश कार्यालय बलबीर रोड पहुंच कर वहां राज्य स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में प्रदर्शनी का शुभारंभ व आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करेंगे। करीब 12:30 बजे वह भराड़ीसैंण विधानसभा भवन पहुंचेंगे। वह पौने तीन बजे उनका देहरादून लौटने का कार्यक्रम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.