भारत का चीन पर दूसरा डिजिटल प्रहार, अब 47 और ऐप बैन

नई दिल्ली: चीन से जुड़ी कंपनियों पर भारत सरकार ने फिर एक बार बड़ी कार्रवाई की है। भारत सरकार ने चीन के 47 और ऐप बैन (china app ban in india) कर दिए हैं। इससे पहले चीन के 59 ऐप बैन किए जा चुके हैं। अब बैन किए गए ऐप्स में ज्यादातर क्लोनिंग वाले ऐप्स शामिल हैं। मतलब पहले से बैन ऐप के जैसे ऐप बनाकर उतार दिए गए थे। इन ऐप्स पर यूजर्स की डेटा का आरोप लगा है। भारत ने चीनी ऐप्स के खिलाफ कार्रवाई गलवान घाटी में झड़प के बाद शुरू की थी।

अभी कुछ दिन पहले ही भारत ने चीन के 59 ऐप बैन (59 chinese app ban) किए थे और सरकार ने चीन के अन्य 275 ऐप की लिस्ट (275 chinese app may ban) बना ली है। इनमें गेमिंग ऐप पबजी (PUBG may be banned) भी है।

एक अनुमान के मुताबिक भारत में चीनी इंटरनेट कंपनियों के करीब 30 करोड़ यूनीक यूजर्स हैं। लिस्ट बनाकर सरकार चेक कर रही है कि ये ऐप किसी भी तरह से राष्ट्रीय सुरक्षा या लोगों की निजता के लिए खतरे का सबब तो नहीं बन रहे हैं। अगर कोई अनियमितता सामने आती है तो हो सकता है कि चीन के बैन ऐप्स की लिस्ट और भी लंबी हो जाए।

ये सब हो रहा है चीन और भारत के बीच तनाव (India China standoff in ladakh) के चलते। इस तनाव की वजह से दोनों देशों की सेनाओं के बीच एक खूनी झड़प भी हो चुकी है, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। बता दें कि तब से अब तक भारत के लोगों में चीन को लेकर एक गुस्सा है।

केंद्र सरकार ने चीनी टेक कंपनियों के खिलाफ एक बार फिर बड़ी कार्रवाई की है. भारत सरकार ने चीन के 47 अन्य ऐप्स को बैन कर दिया है. इसे मोदी सरकार का चीन पर दूसरा डिजिटल स्ट्राइक कहा जा रहा है. दरअसल ये 47 ऐप्स बैन हुए 59 ऐप्स की क्लोनिंग कर रहे थीे.

उदाहरण के तौर पर चीनी ऐप टिकटॉक बैन होने के बाद टिकटॉक लाइट के रूप में मौजूद था. इससे पहले सरकार ने चीन के 59 ऐप्स बैन कर दिए थे, जिनमें टिकटॉक, Shareit, कैमस्कैनर जैसी कई पापुलर ऐप्स शामिल थीे. इसके अलावा पता चला है कि सरकार ने 275 अन्य चीनी ऐप्स की लिस्ट बनाई है.

सरकार चेक कर रही है कि ये ऐप्स किसी भी तरह से नेशनल सिक्योरिटी और यूज़र प्राइवेसी के लिए खतरा तो नहीं बन रही हैं. सूत्रों के मुताबिक जिन कंपनियों का सर्वर चीन में है, उन पर पहले रोक लगाने की कोशिश की जा रही है.

सूत्रों के मुताबिक तैयार की जा रही लिस्ट में कुछ टॉप गेमिंग चीनी ऐप्स भी शामिल हैं, जिन्हें बैन किया जा सकता है. रिव्यू की जा रही ऐप्स की लिस्ट में Xiaomi के बनाये गये Zili ऐप, ई-कॉमर्स Alibaba का Aliexpress ऐप, Resso ऐप और Bytedance का ULike ऐप शामिल है. इस डेवलपमेंट से जुड़े एक शख्स ने बताया कि सरकार इन सभी 275 ऐप्स को, या इनमें से कुछ ऐप्स को बैन कर सकती है.

आधिकारिक सूत्र के मुताबिक पाया गया है कि कुछ ऐप्स राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरनाक हैं. साथ ही कुछ ऐप डेटा शेयरिंग और प्राइवेसी के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *