क्षय रोग के उन्मूलन के लिए बलगम जांच कराने के निर्देश

रुद्रप्रयाग : जिला अधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में आयोजित जिला स्तरीय टीबी फोरम की बैठक में नि-क्षय पोषण योजना के अंतर्गत सभी उपचाराधीन मरीजों के पोषण भत्ते का अविलंब भुगतान करने के निर्देश दिए। उन्होंने जनपद से क्षय रोग के उन्मूलन के लिए अधिक से अधिक बलगम जांच कराने के निर्देश भी दिए।

जिला सभागार में आयोजित टीबी फोरम की बैठक में क्षय रोगियों को प्रभावी सेवा प्रदान करने व राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन पर चर्चा की गई। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित द्वारा क्षय रोग के प्रति भेदभाव को कम करने व क्षय रोगियों के परिवारों की सामाजिक सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए हर स्तर पर प्रयास करने पर जोर दिया, उन्होंने कहा कि जनपद से क्षय रोग उन्मूलन के लिए सभी टीबी रोगियों को खोज कर उन्हें उपचारित करने के दृष्टिगत बलगम जांच बढाने के निर्देश दिए।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 बीके शुक्ला ने जनपद में राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत संचालित गतिविधियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया जनपद की टीबी नोटिफिकेशन 100 प्रतिशत है, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा संतोष व्यक्त किया गया। निक्षय पोषण योजना के अंतर्गत पोषण भत्ते का भुगतान कम होने पर जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि राज्य स्तर से बजट प्राप्त होते ही समस्त रोगियों के पोषण भत्ते का भुगतान किया जाएगा। जिलाधिकारी द्वारा सभी टीबी सूचकांकों का निरंतर मूल्यांकन करने व उनमें सुधार करने, क्षय उन्मूलन हेतु समस्त सेवा व सुविधा के बारे में क्षय रोगियों को शत प्रतिशत जागरूक करने के निर्देश दिए।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. बीके शुक्ला ने बताया कि टीवी रोगियों की खोज हेतु निरंतर अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें टीबी जनजागरूकता एवं सामाजिक सहभागिता को बढाने हेतु एडवोकेसी, कम्युनिकेशन एंड सोशल मोबलाइजेशन (एसीएसएम) के अंतर्गत समुदाय स्तर पर संवेदीकरण, समन्वय व जागरूकता गतिविधियां की जाएंगी।
साथ ही क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत क्षय रोग को खत्म करने के लिए जनसहभागिता बढ़ाने हेतु सामुदायिक सहायता कार्यक्रम चलाया जा रहा है।

जिसके तहत टीबी रोगियों को जरूरी सहायता, बेहतर पोषण हेतु जनसमुदाय व जनसंगठनों से लगातार मदद की अपील की जा रही है, जिसके अंतर्गत टीबी रोगियों की पोषण व अन्य जरूरतों की मदद के लिए आर्थिक सहायता के लिए राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के नि-क्षय पोर्टल पर डोनरध्नि-क्षय मित्र के रूप में पंजीकरण कराया जा रहा है। बताया कि इसके अंतर्गत जनपद में अब तक 10 लोगों द्वारा नि-क्षय मित्र (डोनर) के रूप में पंजीकरण कराया जा चुका है।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार जिला विकास अधिकारी मनविंदर कौर, उप जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग अपर्णा ढौंडियाल, जखोली परमानंद राम, ऊखीमठ जितेंद्र वर्मा, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. विमल गुसाईं, असिस्टेंट प्रोफेसर डाॅ. सुरेंद्र नेगी, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती शीला रावत, डाॅ. हेमा असवाल, डाॅ. यास्मिन, डाॅ. गोपाल सजवाण, डाॅ. मनीष, डाॅ. पूजा, सरस्वती देवी, डीपीसी मुकेश बगवाड़ी, डीईओ सतीश नौटियाल के अलावा टीबी चैंपियन द्वारा प्रतिभाग किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.