बाजार बंद, बदरीनाथ हाईवे पर लगाया जाम

देहरादून :अंकिता हत्याकांड को लेकर चमोली जिले के लोगों में भारी आक्रोश है। मंगलवार को जोशीमठ में व्यापारियों ने अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे और प्रदर्शन कर मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा देने की मांग की। इस दौरान नगर के तिराहे पर बदरीनाथ हाईवे पर सांकेतिक रूप से जाम भी लगाया।

आंदोलन में भारी संख्या में महिलाएं शामिल हुईं। इस मौके पर व्यापार संघ अध्यक्ष नैन सिंह भंडारी, जय प्रकाश भट्ट, ब्लॉक प्रमुख हरीश परमार, अमित सती, देवेश्वरी शाह, पूनम नौटियाल के साथ ही कई लोग मौजूद रहे।

इधर, नंदानगर ब्लॉक मुख्यालय पर हुई श्रद्धांजलि सभा में पूर्व प्रधान माहेश्वरी देवी, उर्मिला देवी, संगीता, रुचि और अनिता देवी ने कहा कि सरकार एक तरफ बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान चला रही है दूसरी तरफ ऐसी घटनाएं देवभूमि को कलंकित कर रही हैं।

इस दौरान ग्राम प्रधान गजेंद्र सिंह, दयाराम, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य सुरेंद्र सिंह, डा. दलवीर लाल, सुखवीर रौतेला आदि मौजूद रहे। वहीं, भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष जसवंत लाल ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर उत्तराखंड में बढ़ते अपराधों पर अंकुश लगाने की मांग की। उन्होंने अंकिता के हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग की।

थराली में विभिन्न राजनैतिक दलों, व्यापारियों एवं सामाजिक संगठनों के लोगों ने कैंडल मार्च निकालकर हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग की। इस दौरान विनोद रावत, संदीप रावत, उमेश पुरोहित, गंगा सिंह, महेश उनियाल, यमुनादत, प्रेम बुटोला, देवेंद्र सिंह, प्रकाश भारद्वाज आदि मौजूद थे।

गौचर में लोगों ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर प्रदर्शन किया। इसके बाद विभांशु बर्त्वाल, चैतन्य बिष्ट, महावीर रावत, संजय बहुगुणा, सौरभ कंडारी, रोहित बर्त्वाल, शुभम सिमल्टी, कैलाश रावत आदि उत्तराखंड आंदोलनकारी शहीद स्मारक पर मोमबत्तियां जलाकर अंकिता की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।

पौड़ी में पौड़ी बचाओ संघर्ष समिति के आह्वान पर कैंडल मार्च निकालकर अंकिता को श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान नागरिक कल्याण समिति, शिक्षक व कर्मचारी संगठन, अभाविप, एनएसयूआई सहित विभिन्न सामाजिक व राजनीतिक संगठन मौजूद रहे।

जिला पंचायत अध्यक्ष शांति देवी, पौड़ी बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक नमन चंदोला व विधायक राजकुमार पोरी ने कहा की पूरा उत्तराखंड अंकिता की हत्या से आक्रोशित है। श्रद्धांजलि देने वालों में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष केशर सिंह नेगी, गढ़वाली कवि वीरेंद्र पंवार, विनोद दनोसी, कुसुम चमोली, अनीता रावत, संगीता रावत, नीलम रावत, कुसुम नेगी आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.