नशे में कार चालक ने चार लोगों को रौंदा

हल्द्वानी : रामपुर रोड पर मंगलवार देर रात तेज रफ्तार कार ने बैंक्वेट हॉल के आगे खड़े चार लोगों को रौंद दिया। कार चालक नशे में धुत था। तीन लोगों की एसटीएच में उपचार के दौरान मौत हो गई। मरने वालों में दो दुल्हन के भाई व एक बैंक्वेट हॉल का सिक्योरिटी गार्ड है। घटना में कार में सवार एक युवक भी घायल हुआ है। घायलों का एसटीएच में उपचार चल रहा है।

रामपुर रोड स्थित रुद्राक्षी बैंक्वेट हॉल में मंगलवार रात स्टोनले कंपाउंड नैनीताल निवासी रिटायर्ड नायब तहसीलदार महेश लाल की बेटी का विवाह था। बरात दिल्ली से आई थी। खाना खाने के बाद कई बराती व घराती रात को सड़क किनारे खड़े थे। पुलिस के मुताबिक देवलचौड़ निवासी प्रदीप (21) पुत्र हेम चंद्र लोशाली भी एसटीएच के पास स्थित शाकुंतलम गार्डन में शादी में आया था।

देर रात साढ़े 12 बजे देवलचौड़ की तरफ आ रही तेज रफ्तार आइ-20 कार ने सड़क किनारे खड़े लोगों को रौंदना शुरू कर दिया। प्रत्यशदर्शियों के मुताबिक हादसे के बाद भगदड़ मच गई और वहां खड़े अन्य लोगों ने बैंक्वेट हॉल के भीतर घुसकर बमुश्किल जान बचाई।

हादसे के बाद दुल्हन की मौसी के बेटे आशीष कुमार (22) पुत्र प्रमोद कुमार निवासी दफरीन लॉज मल्लीताल नैनीताल, दुल्हन के मामा के बेटे आदर्श कुमार उर्फ अंशुल (23) पुत्र जगदीश प्रसाद निवासी बालावाला देहरादून व बैंक्वेट हॉल के सिक्योरिटी गार्ड फार्म नंबर तीन डहरिया निवासी धर्मपाल (28), बालावाला देहरादून से शादी में शिरकत करने आए अनुज पुत्र दयाराम को गंभीर हालत में एसटीएच लाया गया।

कार में सवार देवलचौड़ निवासी प्रदीप भी घायल हो गया। वहीं, एसटीएच में उपचार के दौरान चिकित्सकों ने आशीष, अंशुल व गार्ड धर्मपाल को मृत घोषित कर दिया। सूचना पर टीपी नगर चौकी प्रभारी सुशील कुमार समेत बड़ी संख्या में फोर्स अस्पताल पहुंच गई।

पुलिस की मानें तो कार सवार घायल प्रदीप नशे में होने की वजह से बार-बार बयान बदल रहा है। उसका कहना है कि गाड़ी में तीन-चार लोग सवार थे। गाड़ी वह नहीं चला रहा था। कार को कौन चला रहा था, फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उदय दिनमान’ एक वैचारिक आंदोलन भी है। इस आंदोलन का सरोकार आर्थिकी, राजनीति, समाज, संस्कृति, इतिहास व विकास से है। अकेले उत्तराखंड की बात करें तो यह क्षेत्र सदियों से न केवल धार्मिक आस्थाओं का केंद्र रहा है, बल्कि यह क्षेत्र मानव सभ्यता-संस्कृति का उद्गम स्थल भी समझा जाता रहा है। आधुनिक समय में विकास की अवधारणा के जन्म लेने के साथ हिमालयी समाज-संस्कृति को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। ये चुनौतियां हमारी संस्कृति पर निरंतर प्रहार कर इसे गहरा आघात पहुॅचाने में तुली हुई है। हालांकि, सामाजिक, शारीरिक, आर्थिक आदि कष्टों के बावजूद यह संस्कृति अपने ताने-बाने से छिन्न-भिन्न नहीं हो सकी है। मगर निरंतर जारी प्रहारों से एकबारगी चितिंत होना स्वाभाविक है। ‘उदय दिनमान’ का प्रयास है कि राजनीति, समाज, संस्कृति, इतिहास, विकास व आर्थिकी पर निरंतर हो रहे आघातों से जनमानस को सजग रखने का प्रयास किया जाए। यह कहकर हम कोई बड़ा दंभ नहीं भर रहे हैं। यह हमारा मात्र एक लघु प्रयास भर है। हमारी अपेक्षा व आकांक्षा है कि हमारे इस प्रयास में आपकी भागीदारी ही नहीं सुनिश्चित हो, बल्कि आपके विस्तृत अनुभवों, विचारों, सुझावों व गतिविधियों का लाभ ‘उदय दिनमान’ के द्वारा व्यापक जनमानस तक पहुंचे। उक्त क्रम में ‘उदय दिनमान’ के प्रयासों को बल प्रदान करने के निमित आप अपने अनुभवों, सुझावों व विचारों को लेख अथवा यात्रावृत्त, संस्मरण, रिर्पोट, कथा-कहानी, कविता, रेखाचित्र, फोटो आदि के रूप में प्रेषित करने का कष्ट करें। संपर्क करें। https://www.udaydinmaan.com/ संतोष बेंजवाल संपादक कन्हैया विहार, निकट कारगी चैक, देहरादून (उत्तराखंड) udaydinmaan@gmail.com Phone:0135-3576257 Mob:+91.9897094986 Email: udaydinmaan@gmail.com