अब नई वर्दी के साथ दिखेगी ‘भारतीय वायुसेना

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने अपनी 90वीं वर्षगांठ पर एक नई वर्दी (New Combat Uniform) का अनावरण किया है। भारतीय वायुसेना अपने योद्धाओं को श्रद्धांजलि देने के लिए हर साल 8 अक्टूबर को अपनी वर्षगांठ मनाता है। चंडीगढ़ में वायुसेना के विमानों ने आसमान में तरकब दिखाए। इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मौजूद रहे।

चंडीगढ़ में भारतीय वायुसेना दिवस के मौके पर IAF प्रमुख एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी ने कहा कि हम अगले साल से महिला अग्निवीरों को शामिल करने की भी योजना बना रहे हैं। इसके लिए बुनियादी ढांचे का निर्माण प्रगति पर है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आईएएफ के लिए एक नई हथियार प्रणाली शाखा को मंजूरी दी गई है। नई शाखा वायुसेना में कई हथियार प्रणालियों के लिए जिम्मेदार होगी और इसके परिणामस्वरूप 3,400 करोड़ रुपये से अधिक की बचत होगी।

यह अनिवार्य रूप से सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइलों, सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों, दूर से संचालित विमान और बहु चालक दल के विमानों में हथियार प्रणाली ऑपरेटरों की चार विशेष धाराओं के संचालन के लिए होगा।

वायुसेना प्रमुख ने कहा कि हमें अपने पूर्ववर्तियों की कड़ी मेहनत, लगन और दूरदृष्टि से गौरवशाली विरासत मिली है। इसे यहां तक लाने वाले हमारे दिग्गजों के योगदान को याद रखना होगा। अब इसे शताब्दी दशक में लाने की जिम्मेदारी हम पर है।

बता दें कि भारतीय वायुसेना दिवस के अवसर पर चंडीगढ़ के सुखना लेक पर एयर शो आयोजित हुआ। इस दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु व तीनों सेनाओं की कमांडर इन चीफ द्रौपदी मुर्मु, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, एयर मार्शल वीआर चौधरी मौजूद रहे।

इसके साथ ही इस दौरान पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित व मुख्यमंत्री भगवंत मान और हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय व मुख्यमंत्री मनोहर लाल और चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर मौजूद रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.