दर्दनाक तस्वीर: दादा के शव पर तीन साल का मासूम !

जम्मू-कश्मीर: जम्मू-कश्मीर में आतंकियों और सुरक्षाबलों की मुठभेड़ की खबरें आम बात है. हर दिन सुरक्षाबल आतंकियों को अपनी गोली का निशाना बनाते रहते हैं.हाल के दिनों में घाटी में आतंकियों को बड़ी संख्या में मारा गया है.

इसके बावजूद आतंकवादी अपने नापाक मंसूबों से पीछे नहीं हट रहे हैं. बुधवार सुबह आतंकियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर हमला किया. इस दौरान एक नागरिक की भी जान चली गई. मृतक के शव पर बैठे तीन साल के पोते की दर्दनाक तस्वीर सामने आई है.

दरअसल, सोपोर में बुधवार सुबह केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) की पार्टी पर आतंकियों ने हमला किया. ये हमला मार्केट एरिया में घात लगाकर किया गया. सुरक्षाबलों ने भी आतंकियों को फायरिंग से जवाब दिया. इस दौरान फायरिंग में सीआरपीएफ 179 बटालियन का एक जवान शहीद हो गया. जबकि एक नागरिक की भी गोली लगने से मौत हो गई.

मृतक नागरिक 60 साल के बुजुर्ग थे. घटनास्थल से इनकी तस्वीर सामने आई है. जमीन पर शव पड़ा हुआ है, कपड़े खून से सने हैं और वहीं मृत शख्स का 3 साल का पोता भी मौजूद है.

ये मासूम अपने दादा की लाश पर इस तरह बैठा हुआ है, जैसे शायद कभी वो उनकी गोद में खेलता होगा. लेकिन दादा का शरीर गोलियों से छलनी था और उनके कपड़े खून से सने थे. वो अपने पोते को अब गोद में नहीं उठा सकते थे.

ऐसे में वहां मौजूद पुलिस टीम के एक सदस्य ने बच्चे को अपनी गोद में उठाया और आतंकियों के साथ चल रहे एनकाउंटर साइट से अलग किया. इससे पहले एक तस्वीर में ये बच्चा शव के पास ही मौजूद एक जवान की तरफ जाता दिखाई दे रहा है.

आतंकियों के खिलाफ पोजिशन लिए हुए यह जवान बच्चे को दूसरी तरफ जाने का इशारा करता दिखाई दे रहा है.

सोपोर में आतंकियों ने सीआरपीएफ की पार्टी पर फायरिंग की, 1 जवान शहीद, 3 जख्मी; 1 नागरिक की भी जान गई
जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर कस्बे में सीआरपीएफ की पार्टी पर बुधवार को आतंकियों ने हमला कर दिया। फायरिंग में 1 जवान शहीद हो गया और 3 जख्मी हुए हैं।

इनमें से 2 की हालत गंभीर है। आतंकियों की फायरिंग की चपेट में आए 1 नागरिक की भी मौत हो गई। मारे गए व्यक्ति के साथ उनका 3 साल का पोता भी था। सिक्योरिटी फोर्सेज ने बच्चे को सुरक्षित निकाल लिया। इलाके की घेराबंदी कर आतंकियों की तलाश की जा रही है।

सिक्योरिटी फोर्स पर हमले की 6 दिन में यह दूसरी घटना है। इससे पहले शुक्रवार को अनंतनाग के बिजबेहड़ा में सीआरपीएफ की पार्टी पर अटैक हुआ था। उसमें एक जवान शहीद हो गया और 5 साल के बच्चे की मौत हो गई थी।

यह जानकारी जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने मंगलवार को दी। उन्होंने बताया कि मारे गए आतंकियों में 70 हिजबुल मुजाहिदीन के, 20-20 लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के थे। बाकी दूसरे आतंकी संगठनों के थे।

डीजीपी के मुताबिक पाकिस्तान में आतंकियों के लॉन्च पैड सक्रिय हैं। वहां से भारत में आतंकी भेजने की लगातार कोशिश की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *