पाकिस्तानः विधानसभा में की मक्खियों को भगाने की मांग

कराची : विधायक नुसरत सहर अब्बासी ने कहा कि जिस तरह सरकार की तरफ से बयान दिया गया कि बारिश आती है तो पानी आता ही है, ऐसे ही यह बयान भी दिया जाए कि जब बारिश आती है तो मक्खियां भी आती हैं. कराची से कश्मोर तक, राज्य में हर जगह मक्खियों ने जीना मुहाल कर दिया है. इनके खात्मे के लिए विधानसभा अध्यक्ष दुआ कराई.

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद कूटनीतिक स्तर पर भारत से मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भारत को एटमी युद्ध की धमकी दे रहे हैं लेकिन अपने ही देश के सिंध प्रांत में लोगों को मक्खियों के आतंक से भी नहीं बचा पा रहे हैं. ऐसे में सोचिए जो देश लोगों को मक्खी से ना बचा पाए क्या उसे परमाणु युद्ध की धमकी देनी चाहिए?


पाकिस्तान के सिंध प्रांत में लोग मक्खियों से बेहद परेशान हैं और नौबत यहां तक पहुंच गई कि मामला न केवल विधानसभा में उठा बल्कि इन मक्खियों से मुक्ति के लिए विशेष दुआ कराई गई. अखबार ‘जंग’ की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है.


रिपोर्ट में कहा गया है कि विधायक नुसरत सहर अब्बासी ने कहा कि जिस तरह सरकार की तरफ से बयान दिया गया कि बारिश आती है तो पानी आता ही है, ऐसे ही यह बयान भी दिया जाए कि जब बारिश आती है तो मक्खियां भी आती हैं. कराची से कश्मोर तक, राज्य में हर जगह मक्खियों ने जीना मुहाल कर दिया है. इनके खात्मे के लिए विधानसभा अध्यक्ष दुआ कराई.


अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, एक अन्य विधायक राणा अनसार ने कराची में मक्खियों के आतंक की शिकायत की और इनसे निपटने के लिए विशेष दुआ कराने की गुजारिश की जबकि, विधायक खुर्रम शेर जमान ने कहा कि ईद उल अजहा में जानवरों की कुर्बानी और बारिश के बाद कराची में हालात बदतर हो गए हैं. बीमारियां बढ़ गई हैं. मुख्यमंत्री बताएं कि वह इनसे निपटने के लिए क्या कदम उठा रहे हैं. सरकार की तरफ से बताया गया कि सूबे में फॉगिंग शुरू करा दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *