पंच केदार:प्रसिद्ध चतुर्थ केदार रुद्रनाथ के कपाट श्रद्धालुओ के दर्शनार्थ बंद

अनिल भटृ

गोपेश्वरःपंच केदारो मे प्रसिद्ध चतुर्थ केदार भगवान रुद्रनाथ महादेव के कपाट आज ब्रह्ममुहुर्त 4:30 पर श्रद्धालुओ के दर्शनार्थ बंद कर दिये गये है। अब छः महीनो तक भगवान रुद्रनाथ महादेव की पूजा अर्चना पांडवकालीन ऐतिहासिक मंदिर गोपीनाथ गोपेश्वर में सम्पन्न होंगी।

सुरम्य मखमली बुग्यालो के बीच स्थित बाबा का मंदिर अपने आप मे एक अनौखा मंदिर है। बाबा भोले का मंदिर समुद्र तल से 2290 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। चमोली जनपद के सगर (गोपेश्वर) नामक स्थान से 19 किमी के पैदल सफर को पार कर भगवान रुद्रनाथ जी के दर्शन प्राप्त होते है। गोरतलव है कि ग्रीष्मकाल के दौरान भगवान रुद्रनाथ महादेव जी पूजा अर्चना रुद्रनाथ मे संपादित होती हैं।

स्कन्ध पुराण के केदारखण्ड के 51 वें अध्याय मे शिव जी पार्वती से कहते है :- रुद्रनाथ हमारा एक तीर्थ है। इसका नाम “रुद्रालय” है। यह समस्त तीर्थो मे परमोतम है। इस तीर्थ के महात्म्य को सुनकर मनुष्य समस्त पापों के बंधनो से मुक्त हो जाता है। रुद्रालय अनेको तीर्थो से विभूषित है, इसलिए यह अति पवित्र होने के साथ ही भगवान शंकर यहां नित्य निवास करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *