प्रकृति की मारः 1000 से ज्यााद लोगों की मौत, एक शहर 90 फीसदी तबाह

दक्षिण अफ्रीकी : कभी-कभी प्रकृति भी हमारे साथ कू्रर मजाक करती है। करे भी क्यों नहीं हमने प्रकृति के साथ भी खुद छेड़छाड़ की तो उसका दुष्प्रभाव पडे़गा ही। कहते हैं कि जैसी करनी वैसी भरनी। ऐसा ही कुछ हुआ और वह भी बेहद खौफनाक। चलिए बताते है कि आखिर कहा और कब किस रूप में प्रकृति ने हमे खुद सजा दी।आपको बता दें कि दक्षिण अफ्रीकी देश मोजाम्बिक भयंकर समुद्री तूफान की चपेट में है। तूफान से मोजाम्बिक का बेरा शहर 90 फीसदी तबाह हो गया है और यहा 1000 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका है।


दक्षिण अफ्रीकी देश मोजाम्बिक में पिछले हफ्ते आए भयंकर समुद्री तूफान से बड़ी तबाही मची है। एक हजार से ज्यादा लोगों के तूफान में मारे जाने की आशंका है। तूफान ने पड़ोसी जिम्बाब्वे में भी खूब तबाही मचाई है। वहां दर्जनों लोगों की मौत हो गई है और 150 से ज्यादा लोग लापता हो गए हैं। समुद्री तूफान इडाई गुरुवार को मोजाम्बिक के बेरा शहर में अपने साथ तबाही लेकर आया। तेज हवा और अचानक बाढ़ से जानमाल का काफी नुकसान हुआ है। बाढ़ का पानी अपने साथ हजारों घरों और सड़कों को बहा ले गया है।

राष्ट्र के नाम अपने संदेश में मोजाम्बिक के राष्ट्रपति फिलिप न्यूसी ने कहा, ‘अभी तक आधिकारिक रूप से 84 मौत की पुष्टि हुई है। लेकिन असल आंकड़ा तब सामने आएगा जब हवाई सर्वे किया जाएगा। वैसे अनुमान है कि 1,000 से ज्यााद लोगों की मौत हुई है।’ उन्होंने इसे भयानक आपदा बताया है। उन्होंने बताया कि एक लाख से ज्यादा लोग खतरे में हैं।

मिशन एविएशन फेलोशिप नाम की एक गैर लाभकारी संस्था की ओर से जारी हवाई फोटोग्राफ में तबाही की तस्वीरें सामने आई हैं। बाढ़ का पानी घरों की खिड़कियों तक पहुंच गया है। इससे हजारों लोग अपने घरों की छत पर फंसे हुए हैं। वहीं, रेडक्रॉस सोसायटी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि 5 लाख आबादी वाले शहर करीब 90 फीसदी तबाह या क्षतिग्रस्त हो गया है। रेडक्रॉस सोसायटी के मुताबिक, स्थिति बहुत भयावह है। बड़े पैमाने पर तबाही मची है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *