मूली के पत्ते किसी रामबाण से कम नहीं !

मुंबई: हरी पत्तेदार सब्जियां खाने के सेहत के लिए फायदेमंद होती हैं, इसमें कोई शक नहीं। कुछ सब्जियों के पत्ते भी इस श्रेणी में आते हैं। इन्हें हम बेकार समझकर फेंक देते हैं। ऐसे ही हरे पत्ते होते हैं मूली के। मूली के पत्ते कोरिया और चीन में सब्जी के रूप में खाए जाते हैं।

भारत में भी इनसे साग और पराठे बनाए जाते हैं। मूली क्रूसीफर सब्जी है। हेल्थ बेनिफिट्स की बात करें तो इससे कई माइक्रोन्यूट्रिएंट्स मिलते हैं। क्रूसीफर सब्जियों में पावरफुल ऐंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। ये आपको कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों से भी बचाते हैं।

मूली के पत्ते विटामिन सी से भरपूर होते हैं। इनमें मूली से छह गुना ज्यादा विटामिन सी होता है। आपको सीजनल एलर्जी, जुकाम, खांसी होता रहता है तो मूली के पत्ते खाना शुरू कर सकते हैं।

मूली के पत्ते वजन कम करने वालों के लिए बढ़िया ऑप्शन है। इनमें कैलोरी कम होती है और आपका मेटाबॉलिजम तेज करते हैं। एक कप में सिर्फ 13 कैलोरी होती है। आप इन्हें सलाद या भुजिया बनाकर खा सकते हैं। पेट भरा रहेगा और पोषण भी मिलेगा।

मूली के पत्तों में विटामिन ए, विटामिन बी1, बी6, फॉलिक एसिड, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, पोटैशियम और आयरन होता है। इसमें विटामिन सी भी भरपूर मात्रा में होता है। इन्हें आप नैचुरल मल्टीविटामिन मान सकते हैं।

मूली के पत्ते आपकी हेल्थ के लिए काफी अच्छे होते हैं लेकिन इन्हें खाने में सावधानी भी बरतनी चाहिए। कुछ स्टडीज में यह बात सामने आई है कि पत्ते हानिकारक नहीं होते लेकिन सिंचाई के गंदे पानी की वजह से इनमें पल्यूटेंट्स पहुंच सकते हैं।

अगर इन्हें अच्छी तरह उगाया गया है और ठीक तरह से धोकर पकाकर खाया जाए तो खाने में कोई दिक्कत नहीं है। पत्ते बनाने या कच्चे खाने से पहले अच्छी तरह धोना जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.