बारिश का कहर: नदियां उफान पर

पिथौरागढ़ :जिले में लगभग 18 घंटों तक लगातार बारिश से जनजीवन प्रभावित रहा। बारिश से राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य हाईवे , सीमा मार्ग सहित 18 मार्ग बंद रहे। टनकपुर-तवाघाट हाईवे घाट के पास बंद होने से पिथौरागढ़ का अन्य जिलों सहित मैदानी क्षेत्रों से सम्पर्क भंग हो गया है। घाट के पास सैकड़ों की संख्या में वाहन अब भी फंसे हुए हैं। कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग नहीं खुलने से आदि कैलास यात्री बूंदी में फंसे हैं।

पिथौरागढ़ को देश के अन्य भागों से जोडऩे वाला टनकपुर-तवाघाट मार्ग और घाट-अल्मोड़ा मार्ग शनिवार की रात ही बंद हो गया था। घाट चौकी से लगभग दो सौ मीटर दूर दिल्ली बैंड के पास मलबा आने से दोपहर तक जाने वाले वाहनों को ऐंचोली में ही रोका गया। दिल्ली बैंड के पास लोडर मशीन लगाई गई है। यहां पर मैदानी क्षेत्रों सहित हल्द्वानी, टनकपुर, अल्मोड़ा से आने वाले सैकड़ों वाहन फंसे हुए हैं, जिसमें रोडवेज, केमू बसों के अलावा गैस वाहन, सब्जी वाहन और समाचार पत्रों के वाहन भी शामिल रहे।

इधर, हाईवे पर चलती बाइक पर पत्थर गिरने से बाइक चालक घायल हो गया। वह पिथौरागढ़ से घाट की तरफ जा रहा था। उसकी पहचान पंकज सिंह पुत्र प्रयाग सिंह निवासी धानाचूली के रूप में हुई है। घायल को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। उसकी हालत सामान्य बताई गई है।

वहीं, थल से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार की रात की बारिश से नायल सपोली में सड़क से पानी और मलबा बंसत कुमार के मकान में घुस गया। मलबा घुसने से मकान की एक तरफ की दीवार ढह गई। इस दौरान खाना बना रहा बंसत कुमार मलबे की चपेट में आकर घायल हो गया। समाज सेवी बसंत लोहनी घायल को पीएचसी थल लाया जहां पर उसका उपचार किया गया। सूचना मिलने पर पटवारी, होमगार्ड मौके पर पहुंचे और क्षति का आंकलन किया।

नाचनी में भी भारी बारिश से थल -मुनस्यारी मार्ग हरडिय़ा के पास मलबा आने से बंद हो गया। वाहन फंसे रहे। आठ घंटे बाद मार्ग खुला, परंतु शाम तक लगातार मलबा गिरने से यातायात प्रभावित रहा। बलुवाकोट में भी मार्ग बंद रहा। काली और गोरी नदियों का जलस्तर बढऩे से लोग दहशत में हैं।

धारचूला से मिली जानकारी के अनुसार, कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग तीसरे दिन भी नहीं खुला है। तंपा मंदिर के पास मलबा हटाने का कार्य जारी है। आदि कैलास यात्रियों सहित स्थानीय लोग बूंदी और गुंजी में फंसे हैं। निचले इलाकों में बारिश से उच्च हिमालय की चोटियों में हिमपात हो रहा है। मुनस्यारी तहसील क्षेत्र में भी लगातार बारिश है और हिमालय की ऊंची चोटियों में हिमपात होने से तापमान में गिरावट आ चुकी है। सम्पर्क मार्ग बंद होने से जनजीवन प्रभावित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.