दुर्लभ: केनेट नदी के किनारे मिला एलियन जैसा जीव !

उदय दिनमान डेस्कः समुद्र के अंदर के संसार से कभी-कभी कुछ ऐसी चीजे समुद्र या नदी के तट पर आ जाती है जो अद्भुत होती हैं और लोग सोचने को मजबूर हो जाते हैं। प्रकृति के खजाने से कभी-कभी कुछ ऐसा ही दिख जाता है, जो मानव सभ्यता के लिए भी अजीब होता है। ऐसा ही कुछ दिख एक नदी के तट पर जिसे देखकर सभी हेरान हैं। चलिए जानते है इसके बारे में विस्तार से-

एक बेहद दुर्लभ और बड़ा जीव ऑस्ट्रेलिया के तट पर लोगों को देखने को मिला. इसे देखकर वहां के पर्यटक हैरान रह गए. क्योंकि इस जीव की शक्ल एलियन जैसी दिखती है. इसे ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया प्रांत के दक्षिण-पश्चिम तट पर स्थित केनेट नदी के मुहाने पर पाया गया.

एलियन जैसे दिखने वाले इस जीव का नाम है ओशन सनफिश (Ocean Sunfish). इस सनफिश को खोजा कैथ रैम्पट्न और उनके हसबैंड टॉम ने जो उस समय उस तट पर छुट्टियां मना रहे थे. दोनों जानवरों के डॉक्टर हैं. दोनों ने कहा कि उन्होंने इससे पहले कभी ऐसा जीव नहीं देखा.

डेली मेल ऑस्ट्रेलिया की खबर के अनुसार कैथ रैम्पट्न ने बताया कि यह मछली करीब 2 मीटर लंबी और इतनी ही ऊंची थी. लेकिन बाद में पता किया तो जानकारी मिली कि ये अपनी प्रजाति की छोटी मछली है. इस प्रजाति में इससे दोगुनी बड़ी आकार की मछलियां होती हैं.

इसके बाद इस मछली को टूरिस्ट टिम रॉथमैन और जेम्स बरहैम ने देखा. इन दोनों ने भी कहा कि ये मछली पूरी तरह से एलियन जैसी दिखती है. इन्होंने कहा कि इससे पहले कभी ऐसा जीव इन लोगों ने नहीं देखा था. पिछली साल दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में एक मछुआरे ने भी सनफिश को पकड़ा था.

एक स्वस्थ और वयस्क सनफिश 3 मीटर लंबी, 4.2 मीटर ऊंची और करीब 2.5 टन वजनी हो सकती है. ये खतरनाक हमलावर हो सकती हैं. साथ ही बेहद प्यारी दिखती है. इसलिए इन्हें कुछ एक्वेरियम में भी रखा गया है.

फिश एक्सपर्ट राल्फ फोस्टर बताते हैं कि यह मछली तभी तट पर आई होगी, जब इसे किसी बड़े नाव से चोट लगी होगी. कई बार ये प्लास्टिक की थैलियों को जेली फिश समझ कर खा जाती हैं. इससे भी इनकी मौत हो जाती है.

राल्फ फोस्टर बताते हैं कि ये सनफिश अक्सर दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के समुद्री तटों पर बहकर आ जाती हैं. लेकिन ये ज्यादातर गहरे समुद्र में रहती हैं. जापान, कोरिया, ताइवान जैसे देशों में इस मछली को खाया भी जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *