गंगोत्री धाम की चोटियों पर सीजन का पहला हिमपात

देहरादून : बीते दो दिन से उत्‍तराखंड के ज्यादातर क्षेत्रों में रुक-रुककर भारी वर्षा हो रही है। देहरादून समेत आसपास के क्षेत्रों में भारी वर्षा का क्रम बना हुआ है। जिससे मैदानी इलाकों में जलभराव और नदी-नालों के उफान पर आ गए हैं। वहीं आज गंगोत्री धाम की पहाड़ियों पर सीजन का पहला हिमपात हुआ। हेमकुंड में भी अच्‍छी बर्फबारी हुई है। वीडियो देखें :

आज शनिवार को भी देहरादून सहित अधिकतर इलाकों में मौसम खराब बना हुआ है। वहीं प्रदेश के तीन जिलों में स्‍कूल बंद रखे गए हैं। बारिश से कुमाऊं में जनजीवन प्रभावित हो गया है।वहीं चोटियों पर लगातार हो रहे हल्के हिमपात से ठिठुरन बढ़ गई है। मौसम विभाग की ओर से शनिवार को भी कुमाऊं में भारी से बहुत भारी वर्षा को लेकर ऑरेंज अलर्ट है।

मौसम विभाग ने गढ़वाल में भारी बारिश की आशंका के चलते यलो अलर्ट जारी किया गया है। ऐसे में नैनीताल, पिथौरागढ़, बागेश्वर और पौड़ी में जिला प्रशासन ने शनिवार को भी स्कूलों में अवकाश घोषित किया है। अन्य जिलों में भी संबंधित विभागों को अलर्ट मोड पर रखा गया है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार प्रदेश में अभी वर्षा के कई दौर हो सकते हैं। अगले तीन दिन तक मौसम के मिजाज में बदलाव की उम्मीद नहीं है।प्रदेश के पर्वतीय जिलों में भारी से भारी वर्षा हो सकती है। इस दौरान पहाड़ों में भूस्खलन, मैदानों में जलभराव और नदियों किनारे रिहायश में सतर्क रहने की सलाह दी गई है।

चमोली जिले में मौसम का मिजाज बदला रहा। शुक्रवार सुबह हल्की बारिश हुई जबकि हेमकुंड व बदरीनाथ धाम की चोटियों में बर्फबारी हुई है। हेमकुंड यात्रा के केवल तीन दिन ही शेष है, कपाट बंद होने के उत्सव में शामिल होने के लिए संगतों का गोविंदघाट पहुंचना शुरू हो गया है।

हेमकुंड में इन दिनों बर्फबारी का सिलसिला जारी है। सुबह शाम पारा शून्य से नीचे लुढ़क रहा है सुबह से ही यात्रियों का आने का सिलसिला जारी है। इस साल 10अक्टूबर को हेमकुंड साहिब के कपाट बंद हो रहे हैंं।

अबतक दो लाख 20 हजार यात्री हेमकुंड सरोवर में आस्था की डुबकी लगाकर दरबार साहिब में मत्था टेक चुके है,श्री हेमकुंड साहेब गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मुख्य प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने बताया कि हेमकुंड में बर्फबारी से ठंड बढ़ी है।

उत्तराखंड में भारी वर्षा के अलर्ट के बीच पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन आफ उत्तराखंड लिमिटेड (पिटकुल) भी सतर्क हो गया है। अगले दो दिन पिटकुल में छुट्टियों पर रोक लगा दी गई हैं। साथ ही नदी किनारे स्थित उपस्थानों और पर्वतीय क्षेत्रों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं।

पिटकुल के प्रबंध निदेशक पीसी ध्यानी ने बताया कि राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से प्रदेश में दो दिन भारी से बहुत भारी वर्षा के अलर्ट के बाद सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। आकस्मिक ब्रेकडाउन को ठीक करने के लिए टीम गठित कर ली गई है साथ ही कार्मिकों का मोबाइल फोन 24 घटें स्विच रखने को कहा गया है।

संबंधित अधिकारी किसी भी प्रकार की आपदा की सूचना राज्य आपदा नियंत्रण कक्ष के फोन नंबरों 01352710334, टोल फ्री नंबर 1070 व 8218867005 पर तत्काल देना सुनिश्चित करें। नदी किनारे स्थापित ट्रांसमिशन टावरों की लगातार निगरानी की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.