जवानों पर हमला, तीन जवान शहीद, चार घायल

मणिपुर: भारत-म्यांमार सीमा पर तलाशी अभियान में उग्रवादी गुट पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के हमले में असम रायफल्स के 3 जवानों के शहीद होने की खबर है जबकि 4 जवानों के घायल हुए हैं। हथियारबंद पीएलए के उग्रवादियों ने अचानक जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। मणिपुर में भारतीय जवानों पर आतंकवादी हमला हुआ है। शहीद जवान 4 असम राइफल्स यूनिट के बताए जा रहे हैं।

म्यांमार की सीमा से सटे मणिपुर के चंदेल जिले में स्थानीय आतंकवादियों द्वारा घात लगाकर किए गए हमला में तीन जवान सहित चार अन्य जवान हो गए है। बताया जा रहा है कि पहले से ही हमले की योजना बना ली गई थी और इसे स्थानीय आतंकी संगठन – पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने अंजाम दिया था। आतंकवादियों ने पहले एक IED विस्फोट किया और फिर सैनिकों पर गोलियां चलाईं।

सूत्रों ने कहा कि मणिपुर की राजधानी इंफाल से 100 किलोमीटर दूर हमले वाली जगह पर अतिरिक्त फोर्स भेजी गई है। माना जाता है कि अलगाववादी संगठन चीन से नियमित रूप से वित्तीय सहायता और हथियार प्राप्त कर रहे हैं, जिससे उसे उत्तर-पूर्व में अपने नेटवर्क को बनाए रखने में मदद मिली है। भारतीय खुफिया एजेंसियों के अनुसार, यह सहायता कई दशकों से सीमावर्ती क्षेत्र में निरंतर उग्रवाद को बढ़ावा दे रही है।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, आजादी के बाद से ही असम राइफल्स को इस क्षेत्र में विद्रोह के खिलाफ लड़ाई में 750 से अधिक जवानों और अधिकारियों को खोना पड़ा है। इस साल की शुरुआत में, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने 2017 में मणिपुर में असम राइफल्स के एक जवान पर हमले के लिए छह पीएलए आतंकवादियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था।

मामला पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) और मणिपुर नागा पीपुल्स फ्रंट (MNPF) के कार्यकर्ताओं द्वारा 15 नवंबर 2017 को मणिपुर के चंदेल जिले में चामोल-साजिर टमपक सड़क पर 4-असम राइफल्स की एक सड़क खोलने वाली पार्टी पर हमला करने से संबंधित है। तब असम राइफल्स के दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गए और उनमें से एक ने दम तोड़ दिया था। कार्रवाई में दो आतंकवादी मारे गए था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *