संदिग्ध बुखार का प्रकोप, एक महिला की मौत, 100 ग्रामीण पीड़ित

रुड़की : रुड़की के शंकरपुरी गांव में संदिग्ध बुखार का प्रकोप है। यहां बुखार से पीड़ित एक महिला की मौत हो गई है। गांव में बुखार से बड़ी संख्या में ग्रामीण पीड़ित हैं। कई ग्रामीणों में डेंगू रैपिड पॉजिटिव आ चुका है। दो दिन से स्वास्थ्य विभाग की टीम भी गांव में डेरा डाले हुए हैं।

रविवार को 100 बुखार पीड़ित ग्रामीणों के खून के सैंपल लिए गए थे, जिनकी एलाइजा जांच कराई जा रही है। जिस महिला की मृत्यु हुई है उसका भी ब्लड सैंपल लिया गया था। अभी उसकी रिपोर्ट नहीं आई है। 35 वर्षीय महिला संगीता की मौत के बाद से गांव में दहशत का माहौल है।

ग्रामीणों में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही को लेकर गहरा रोष है। उनका कहना है कि गांव में पिछले एक माह से बुखार का प्रकोप है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की ओर से गांव पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। अखबारों में खबर छपने के बाद से स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंची है। अभी भी गांव में कीटनाशक दवाओं का छिड़काव नहीं शुरू कराया गया है।

वहीं शंकरपुरी गांव में डेंगू के संदिग्ध मरीज मिलने के बाद से स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है। विभागीय टीम रविवार को गांव में पहुंची। टीम ने शिविर लगाकर बुखार पीड़ित 100 ग्रामीणों के खून के सैंपल लिये। जिनकी एलाइजा जांच कराई जाएगी। साथ ही बुखार पीड़ितों को दवाएं भी दी।

शंकरपुरी गांव में पिछले कुछ समय से लगातार बुखार पीड़ितों की संख्या बढ़ रही है। कई बुखार पीड़ित निजी अस्पतालों में भर्ती होकर उपचार भी करा रहे हैं। बुखार पीड़ित कुछ मरीजों में डेंगू की रैपिड जांच पॉजिटिव भी आई है।

शनिवार को गांव पहुंची टीम ने सर्वे भी किया था। इस दौरान कुछ घरों में डेंगू का लार्वा भी मिला था। जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण अधिकारी गुरनाम सिंह के नेतृत्व में चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों की एक टीम रविवार को फिर से गांव पहुंची।

विभाग ने गांव के रविदास मंदिर में स्वास्थ्य शिविर लगाया। शिविर में अनेक बुखार पीड़ित ग्रामीणों ने चिकित्सकों से अपना चेकअप कराया। साथ ही मरीजों के खून के सैंपल भी लिये गए। जिनकी एलाइजा जांच कराई जाएगी।

जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण अधिकारी गुरनाम सिंह ने बताया कि 100 बुखार पीड़ितों के खून के सैंपल लिये गए हैं। सिविल अस्पताल रुड़की की लैब में इन सैंपल की एलाइजा जांच कराई जाएगी। जांच के बाद ही कहा जा सकेगा कि मरीज को वायरल बुखार है या फिर डेंगू बुखार है। मरीजों को दवाएं भी दी गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.