कथा स्थल पर पूरा कथा पंडाल खो गया भक्ति रस में

देहरादून। गंगा सेना ट्रस्ट द्वारा उत्तराखण्ड के शहीद राज्य आंदोलनकारियों, शहीद वीर सेनानियों एवं कोरोना काल के ग्रास बने लोगों की स्मृति में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा यज्ञ में आज चौथा दिन श्री गुरुनाक दून वेल स्कूल प्रांगण में भक्तों ने भाग लेकर श्रीमद भागवत कथा यज्ञ का आनंद लिया एवं कथा के साथ-साथ भक्ति गीतों में श्रद्धालुओं ने आनंद लिया। कथा वाचक सुभाष जोशी जी जैसे ही कथा स्थल पर पहुंचे पूरा कथा पंडाल भक्ति रस में खो गया।


कथा वाचक पं. सुभाष जोशी जी ने हिरणाकश्यब, भक्त पल्राद एवं विष्णु अवतार नरसिंह रूप का विस्तार से वर्णन किया। पं. जोशी ने कहा कि भक्त पल्राद और नरसिंह संवाद से हम सबको प्रेरणा लेनी चाहिए। हिरणाकश्यब के न चाहने के बाद भी राजकुमार पल्राद विष्णु भक्ति में लीन रहे। पिता द्वारा बेटे को हजारों यातनाएं दी गयी। लेकिन पल्राद भक्ति रस में खोया रहा।

नरसिंह अवतार ने हिरणाकश्यप को मारकर सृष्टि से बुराई पर अच्छाई की जीत सृष्टि के सामने रखा जिसे भक्तों ने ध्यानपूर्वक सुना और नृसिंग अवतार का जयकारा लगाया। इस अवसर पर गंगा सेना ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष सतीश सकलानी ने कहा कि कथा का आयोजन पूर्ण रूप से प्रशासन की गाईड लाइन के अनुसार किया जा रहा है। सोशियल डिस्टेंस का ध्यान रखा जा रहा है। पंडाल में पैलोथिन के प्रयोग पर प्रतिबंध है।

सतीश सकलानी ने कहा कि कथा के संचालन हेतु दानदाताओं द्वारा लगातार ट्रस्ट का हैंसला बढ़ाया जा रहा है। गंगा सेना ट्रस्ट द्वारा गौ माता की सेवा करने हेतु जल्द ही एक गौशाला का निर्माण किया जा रहा है जिसका नाम ‘आदर्श गौ शाला’ रखा जाएगा। इस गौशाला में बीमार गाय एवं सड़कों पर लावारिश गायों का संरक्षण किया जाएगा। सकलानी ने कहा कि सुधीर जैन तिलक रोड़ वालों ने श्रीमद् भागवत के संचालन हेतु 21 हजार रुपये का दान दिया है। गंगा सेना ट्रस्ट उनका आभार प्रकट करता है।

इस अवसर पर प्रवीण गुसाई, सतीश सकलानी, मुकेश सकलानी, माकन लाल बेसरियाल, जयनारायण बहुगुणा, सोनू सकलानी, रविन्द्र गुनसोला, विजय पंवार, नित्यानंद भट्ट, शिव प्रकाश शुक्ला, मोहन नेगी, अंजू कंडारी, सुमन चौहान, मीनाक्षी, त्रिशान्त गुप्ता, चारू चोपड़ा, सरला सेमवाल, बेजयन्ती जोशी आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *