चांदी सी चमकी बदरीनाथ धाम की वादियां

चमोली: उत्तराखंड में मौसम का मिजाज बदला हुआ है। सोमवार को प्रदेश के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हुई। वहीं, बदरीनाथ धाम की वादियां भी बर्फ से सराबोर हो गईं। मंगलवार सुबह जब धूप खिली तो वादियां चांदी सी चमकती नजर आईं। श्रद्धालुओं ने बर्फ के बीच ही बदरीनाथ धाम के दर्शन किए।

19 नवंबर को बदरीनाथ धाम के कपाट बंद हो रहे हैं। आज से धाम के कपाट बंद होने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इस मौके पर बड़ी संख्या में पर्यटक धाम पहुंच रहे हैं। चमोली जनपद में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बूंदाबांदी होने से मौसम में ठंडक आ गई है।

बदरीनाथ धाम, हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी, गोरसों बुग्याल, रुद्रनाथ, लाल माटी सहित नीती और माणा घाटियों में बर्फ जमी है। धाम पहुंचे अधिकांश तीर्थयात्रियों ने पहली बार इतनी नजदीक से बर्फबारी होते देखी।

निचले क्षेत्रों में भी मौसम बदलने से ठंड में इजाफा हो गया है। जोशीमठ, गोपेश्वर, पोखरी, नंदानगर, पीपलकोटी, नंदप्रयाग आदि क्षेत्र में दोपहर में बूंदाबांदी होने से लोग घरों में ही दुबके रहे। वहीं, मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि अगले 24 घंटे में उत्तरकाशी, चमोली और पिथौरागढ़ के ऊंचाई वाले इलाकों में कहीं-कहीं हल्की बारिश के साथ ही बर्फबारी की भी संभावना है।

सोमवार को राजगढ़ी में जहां सबसे अधिक 25 मिली बारिश रिकॉर्ड की गई, वहीं चमोली के माणा में 13 मिमी, हर्षिल मेेें 11 मिमी, चलथी में 7.5 मिमी, पांडुकेश्वर में छह मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.