दीन-धर्म की शिक्षा देने वालों का अधर्म,जमातियों की बदसलूकी जारी

लखनऊ. क्वारैंटाइन में रखे गए तब्लीगी जमात के लोग हरकतों से बाज नहीं आ रहे। यूपी के गाजियाबाद में इन्होंने मेडिकल स्टाफ से बदसलूकी की। अश्लील हरकतें कीं। इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने इन लोगों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई केे आदेश दिए। गाजियाबाद के बाद लखनऊ और कानपुर से भी ऐसी ही शिकायतें मिली हैं।

कानपुर के लाला लाजपत राय (हैलेट) अस्पताल में 22 जमाती क्वारैंटीन किए गए हैं। यह अस्पताल गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कालेज (जीएसवीएम) के अधीन है। यहां की प्रिंसिपल आरती लाल चंदानी ने कहा, “तब्लीगी जमात में हिस्सा लेकर आए 22 लोगों को क्वारैंटीन वार्ड में भर्ती कराया गया है। इन लोगों मेडिकल स्टाफ से बदसलूकी की।”

लखनऊ की एक मस्जिद में छिपे सहारनपुर के 12 लोगों को संक्रमित पाया गया था। इन्हें बलरामपुर अस्पताल में रखा गया है। यहां भी ये हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। कर्मचारियों पर अभद्र टिप्पणी कर रहे हैं। स्टाफ को गालियां दे रहे हैं।

नियम कायदे ताक पर रखकर ये गले मिल रहे हैं, नॉनवेज खाना मांग रहे हैं और एक-दूसरे की बोतल से पानी पी रहे हैं। अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने हालात संभाले। आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

कुशीनगर में पुलिस ने खेत में छिपे तब्लीगी जमात के 14 सदस्यों को शुक्रवार रात पकड़ लिया। ये नेपाल भागने की फिराक में थे। पुलिस के मुताबिक- इन सभी को क्वारैंटीन सेंटर भेजा गया है।

मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद राशिद फिरंगी महली और शिया धर्मगुरु मौलाना सैफ रिजवी ने तब्लीगी जमात के लोगों को व्यवहार सुधारने की नसीहत दी। मौलाना खालिद रशीद ने शनिवार को जारी बयान में कहा, “आपके व्यवहार से मुस्लिम समुदाय का नाम खराब हो रहा है। समाज में कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है।” मौलाना रिजवी ने भी इन लोगों से अनुशासन में रहने और सरकार के आदेश मानने को कहा।

उत्तर प्रदेश में शनिवार को संक्रमितों की संख्या 210 हो गई है। 18 जिलों के 94 मरीज निजामुद्दीन मरकज से लौटे तब्लीगी जमाती हैं। सबसे ज्यादा संक्रमित जमाती आगरा में मिले। जबकि, कुल संक्रमितों में सबसे ज्यादा 55 नोएडा में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *