उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित तीन मरीजों की मौत

देहरादून। प्रदेश में अभी तक 7447 में कोरोना की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से अब तक 4330 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 2996 मरीज अभी अलग-अलग अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर में भर्ती हैं। कोरोना संक्रमित 86 मरीजों की मौत भी अब तक हो चुकी है। 38 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं।

डिप्टी एमएस डा. एनएस खत्री ने बताया कि उत्तरकाशी निवासी 71 वर्षीय एक महिला की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर निजी अस्पताल से यहां रेफर किया गया था। महिला ने इमरजेंसी में पहुंचते ही दम तोड़ दिया। इसके अलावा केहरी गांव निवासी 68 वर्षीय एक व्यक्ति की भी मौत हुई है।

मरीज को 26 जुलाई को अस्पताल में भर्ती किया गया था।स्थिति गंभीर होने पर उन्हें आइसीयू में रखा गया। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। वहीं, सेलाकुईं निवासी 44 वर्षीय एक व्यक्ति की भी मौत हुई है। उन्हें तीस जुलाई को अस्पताल में भर्ती किया गया था।

बीडी पांडे अस्पताल में किए जा रहे रैपिड एंटीजन टेस्ट में दंपती में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। संक्रमित महिला बीडी पांडे अस्पताल में ही चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के रूप में तैनात है। दोनों को शहर स्थित कोविड केयर सेंटर भेज दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक बेकरी कंपाउंड निवासी एक युवक को बीते कुछ दिनों से बुखार की शिकायत थी। उपचार के लिए अस्पताल पहुंचे युवक का रैपिड एंटीजन टेस्ट किया, तो उसमें संक्रमण की पुष्टि हुई। इसके बाद अस्पताल में ही तैनात उसकी पत्नी भी टेस्ट में पॉजिटिव निकली।

पीएमएस डॉ. केएस धामी ने बताया कि दिनों को आइसोलेशन के लिए शहर स्थित कोविड केयर सेंटर भेज दिया गया है। दोनों के संपर्क में आए लोगों को ट्रेस किया जा रहा है। एहतियात के तौर पर अस्पताल के कर्मचारियों के भी रैपिड टेस्ट किए जाएंगे।

सिविल अस्पताल में डिलीवरी के लिए आई तीन गर्भवती महिलाओं में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। तीनों महिलाओं की डिलीवरी हो चुकी है रिपोर्ट के बाद उन्हें एक अलग रूम में रखा गया है। लेबर रूम को सील करा दिया गया है। साथ ही दूसरा डिलीवरी रूम खोल दिया गया है।

सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि महिलाओं की डिलीवरी को अभी 24 घंटे नहीं हुए हैं। इसलिए अभी उन्हें कहीं पर भी शिफ्ट नहीं किया जा सकता है। इसीलिए अस्पताल के एक रूम में उनको रखा गया है। महिलाओं की डिलीवरी कराने वाली महिला चिकित्सक एवं स्टाफ नर्स को होम क्वारंटाइन किया गया है।

कोटद्वार बेस चिकित्सालय के आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती छह लोगों की कोरोना जांच नेगेटिव आई है। ये सभी लैंसडाउन विधानसभा के विधायक दिलीप रावत के छोटे भाई की पत्नी के संपर्क में आए थे।

बताते चलें कि तीन दिन पूर्व विधायक के छोटे भाई की पत्नी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि के बाद उनके संपर्क में आए 17 लोगों को आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती किया गया था। प्रमुख अधीक्षक डॉक्टर वागीश चंद्र काला ने बताया की संपर्क में आए 11 लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, शनिवार को 4228 सैंपलों की रिपोर्ट मिली है। इनमें 3964 सैंपल निगेटिव और 264 पॉजिटिव आए हैं। नैनीताल में सबसे अधिक 95 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें 45 पूर्व में संक्रमित मिले मरीजों के संपर्क में आए लोग हैं। 16 लोग फ्लू क्लीनिक में चेकअप कराने पहुंचे थे। नौ लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं लग पाई है।

अन्य लोग गुरुग्राम, दिल्ली और नोएडा से लौटे हुए हैं। हरिद्वार में भी 42 नए मामले मिले हैं। इनमें 35 लोग एक ही कंपनी में काम करने वाले हैं। वहीं, पुलिस के चार जवान व दो स्वास्थ्य कर्मी भी संक्रमित मिले हैं।

बागेश्वर में बरेली से लौटे 31 लोग की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ऊधमसिंह नगर में भी 30 नए मामले मिले हैं। इनमें 24 कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए लोग हैं, जबकि पांच फ्लू क्लीनिक में जांच कराने पहुंचे थे।

देहरादून में 27 और लोग कोरोना की चपेट में आए हैं। उत्तरकाशी में 17 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें 12 पूर्व में संक्रमित मिले मरीजों के संपर्क वाले हैं। तीन की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं चली है। दो लोग हिमाचल व अरुणाचल प्रदेश से लौटे हैं। पिथौरागढ़ में सेना के सात जवान संक्रमित मिले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *