भूकंप के झटकों से हिला तुर्की, 50 घायल

अंकारा: तुर्की के एक शहर में बुधवार सुबह भूकंप (earthquake) के तेज झटके महसूस किए गए। न्यूज एजेंसी एएनआइ द्वारा नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी से हवाले से दी गई जानकारी के मुताबिक, तुर्की के अंकारा से 186 किमी पश्चिम-उत्तर-पश्चिम में 5.9 तीव्रता का भूकंप आया। भूकंप की गहराई जमीन से 10 किमी नीचे थी। भूकंप से 50 लोग घायल हो गए और कुछ इमारतों को नुकसान पहुंचा।

तुर्की की सरकार द्वारा संचालित आपदा और आपातकालीन प्रबंधन प्रेसीडेंसी के मुताबिक, भूकंप का केंद्र इस्तांबुल से करीब 200 किलोमीटर पूर्व में डुजसे प्रांत के गोलकाया शहर में था। झटके तुर्की के दो बड़े शहर इस्तांबुल और राजधानी अंकारा में भी महसूस किया गया।

ड्यूज के मेयर फारूक ओजलू ने निजी एनटीवी को बताया कि भूकंप के झटके महसूस होते ही लोग अपने घरों से बाहर निकल आए और इलाके की बिजली भी काट दी गई थी लेकिन अब अधिकारी बिजली बहाल कर रहे हैं।

फारूक ओजलू ने कहा कि किसी के हताहत होने या नुकसान की तत्काल कोई रिपोर्ट नहीं आई हैं लेकिन अधिकारी अभी भी संभावित नुकसान का आकलन कर रहे हैं। तुर्की के आपदा और आपातकालीन प्रबंधन प्राधिकरण (एएफएडी) ने बताया कि भूकंप के क्षेत्र में हजारों कंबल और तंबू भेजे, जिससे डुजसे में 37 लोग घायल हो गए। ज़ोंगुलदक, बर्सा और इस्तांबुल में भी लोग घायल हुए।

इससे पहले यूरोपियन-मेडिटेरेनियन सीस्मोलॉजिकल सेंटर (EMSC) ने कहा था कि भूकंप की तीव्रता 6.0 थी और यह 2 किमी (1.2 मील) की गहराई पर था। तुर्की प्रमुख दोष रेखाओं के शीर्ष पर स्थित है और अक्सर भूकंप के झटकों से हिल जाता है। तुर्की के शहर दूजहे में वर्ष 1999 को एक शक्तिशाली भूकंप से प्रभावित हुआ था, जिसमें लगभग 800 लोगों की जान चली गई थी।

इससे पहले 21 नवंबर को इंडोनेशिया में विनाशकारी भूकंप आया था जिसमें अब तक 268 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 151 लोगों अब भी लापता बताए जा रहे हैं। इस भूकंप में एक हजार से ज्यादा लोग घायल हुए है।

अधिकारियों के मुताबिक, 600 से ज्यादा लोगों को मामूली चोटें भी आईं हैं। राहत एवं बचाव कार्य लगातार अभी भी जारी है, बड़ी तादाद में लोग लापता हैं। अब तक करीब 13 हजार लोगों को सुरक्षित बचाया जा चुकी है वहीं करीब 2200 घरों को नुकसान पहुंचा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.