उत्तराखंड सरकार ने केंद्र से सीमा पर निगरानी के लिए मांगी फोर्स

देहरादूनः कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने केंद्र से प्रदेश की सीमा की निगरानी के लिए अतिरिक्त फोर्स की मांग की है। मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने मंगलवार को केंद्रीय गृह सचिव से वीडियो कांफ्रेंस के दौरान यह मांग की।


मुख्य सचिव ने बताया कि अन्य देशों से सटी सीमा वाले राज्यों में तैयारी की समीक्षा इस कांफ्रेंस में की गई। प्रदेश की सीमा नेपाल और चीन से सटी हुई है। सीमा पर निगरानी बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार से अतिरिक्त फोर्स की मांग की गई है। गृह सचिव ने फोर्स उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है।


प्रदेश स्तर पर की गई तैयारी की भी जानकारी केंद्रीय गृह सचिव को दी कांफ्रेंस में मुख्य सचिव ने कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रदेश स्तर पर की गई तैयारी की भी जानकारी केंद्रीय गृह सचिव को दी। सीएस ने बताया कि उत्तराखंड में राज्य स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है।

राज्य में प्रवेश करने वाले लोगों की निगरानी की जा रही है और जरूरत पड़ने पर उनका परीक्षण कराया जा रहा है। इसके साथ ही प्रदेश में केंद्र की ओर से जारी दिशा निर्देशों को लागू किया जा रहा है।

प्रदेश सरकार की मुख्य चिंता नेपाल सीमा को लेकर है। यह सीमा कई स्थानों पर खुली हुई है। नेपाल सीमा को पूरी तरह से निगरानी में रखने की कोशिश है। इस दौरान बीएसएफ, असम राइफल के डीजी भी मौजूद रहे।


कोरोना वायरस के चलते रेलवे को भी झटका लगा है। रेलवे अधिकारियों की अनुसार कोरोना के चलते यात्री बड़ी तेजी से आरक्षण कैंसिल करा रहे हैं। ज्यादातर ट्रेेनें खाली जा रही हैं।

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक पिछले साल की तुलना में इस साल 25 फीसदी अधिक यात्रियों ने आरक्षण निरस्त कराया है। रेलवे के मुख्य वाणिज्य निरीक्षक एसके अग्रवाल ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते बड़ी संख्या में रेल यात्री आरक्षण को कैंसिल करा रहे हैं। साथ ही कोरोना के चलते ट्रेनों में यात्रियों की संख्या में भारी कमी आई है।

उन्होंने बताया कि सोमवार को नंदा देवी में जहां 350 सीटें खाली थी। वहीं शताब्दी में 150 सीटें खाली रहीं। कमोबेश यही स्थिति अन्य ट्रेनों में भी रही। मुख्य वाणिज्य निरीक्षक के मुताबिक अगर यही स्थिति बरकरार रही तो आने वाले समय में यात्रियों की संख्या और तेजी से कम होगी।

सिटी बसों में यात्रियों को कोरोना वायरस से बचाया जा सके, इसके लिए देहरादून सिटी बस सेवा महासंघ ने खुद ही बसों को सैनेटाइज करना शुरू किया है। महासंघ अध्यक्ष विजयवर्धन डंडरियाल की अगुवाई में महासंघ पदाधिकारियों, संचालकों ने बसों को सैनेटाइज किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *