उत्तराखंडः ऊंची चोटियों पर हिमपात, मानसून की आखिरी बारिश का इंतजार

देहरादून। बारिश के साथ ही बुधवार रात से पिथौरागढ़ जिले के मल्ला जोहार और दारमा की ऊंची चोटियों पर हिमपात शुरू हो गया। गुरुवार को पंचाचूली, हंसलिंग, राजरंभा, सिदम खान, नंदा देवी, नंदा कोट, छिपलाकेदार में भी हिमपात हुआ।

मानसून एकदम अंतिम चरण में है। चंद दिन के भीतर यह उत्तराखंड से विदा हो जाएगा। ऐसे में कुछ इलाकों में शुक्रवार को मानसून की अंतिम बारिश हो सकती है। इधर, देहरादून में बुधवार देर रात झमाझम बारिश हुई। करीब डेढ़ घंटे की तेज बारिश से तापमान में खासी गिरावट आ गई। अब देहरादून में हल्की बारिश के आसार बन रहे हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक आज नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में हल्की से मध्यम बारिश के एक से दो दौर हो सकते हैं। जबकि, कही-कहीं ओलावृष्टि की संभावना है। इधर, गढ़वाल में अब बारिश के आसार कम हैं।

डोईवाला विकासखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार रात बारिश व तेज हवाओं के चलते किसानों की धान व गन्ने की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है। डोईवाला विकासखंड के कई ग्रामीण इलाकों में कुदरत का कहर किसानों की धान व गन्ने की फसल पर टूटा है।

दूधली निवासी किसान पवन कुमार लोधी ने बताया कि दुधली व नागल ज्वालापुर क्षेत्र में हरजिंदर सिंह, जोगिंदर गुप्ता, कमल सिंह, सुमित थापा, संदीप पाल, राजेश कुमार, भाजपा नेता करण वोहरा, गीता सिंह, ललित कुमार आदि की धान व गन्ने की फसल को नुकसान पहुंचा है।

नागल बुलंदावाला निवासी शोभित उनियाल ने बताया कि इनके अलावा इंद्रपाल, राकेश, वीरू, मुकेश, लाल सिंह आदि की धान व गन्ने की फसल को नुकसान पहुंचा है। जिला पंचायत सदस्य टीना सिंह ने स्थानीय प्रशासन से किसानों की फसलों को मुआवजा देने की मांग उठाई। सिमलास ग्रांट के पूर्व प्रधान उमेद बोरा ने बताया कि सबसे ज्यादा इलाके में धान की फसल को नुकसान पहुंचा है।

उधर, पूर्व पंचायत सदस्य रणजोध सिंह ने बताया कि बीती रात्रि तेज बारिश व हवा से मारखमग्रांट इलाके में अमर सिंह, मोहम्मद फारुख, सोहन सिंह नेगी, गब्बर सिंह नेगी, वीरेंद्र कुमार, जसवीर सिंह, अमर सिंह, मलखान सिंह, इंद्रजीत सिंह, सुरजीत सिंह, हरजीत सिंह आदि की धान व गन्ने की फसल को नुकसान पहुंचा है।

माजरी ग्रांट भाजपा मंडल अध्यक्ष राजकुमार ने बताया कि माजरी ग्रांट न्याय पंचायत क्षेत्र में भी नुकसान हुआ है। रानीपोखरी निवासी प्रगतिशील किसान नवीन चौधरी ने बताया कि बारिश व तेज हवाओं से किसानों की धान व गन्ने की फसल को नुकसान पहुंचा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *