भीषण हिंसा, 37 की मौत, 200 घायल

खारतूम: सूडान ट्रिब्‍यून (Sudan Tribune) के मुताबिक, यह झड़प बानी आमेर जनजाति (Bani Amer tribe) और नुबा जनजाति (Nuba tribe) के बीच पिछले हफ्ते झड़प हुई थी। यह हिंसा किस बात पर भड़की यह जानकारी नहीं दी गई है। घटना के जांच के आदेश दे दिए गए हैं। देश की नव-गठित संप्रभु परिषद (Sovereign Council) ने रविवार को राज्यपाल को बर्खास्त कर दिया।

बता दें कि अफ्रीकी देश सूडान में इससे पहले भी हिंसा भड़की थी। इसमें प्रदर्शनकारियों पर सेना की कार्रवाई में 100 से ज्यादा लोग मारे गए थे। उस वक्‍त लोग राजधानी खार्तूम में सत्तारूढ़ सैन्य शासकों के खिलाफ सेना मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। सूडान के राजनीतिक हालात बेहद खराब हैं जिसे देखते हुए संयुक्‍त राष्‍ट्र और ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को खार्तूम से निकालने की बात कह चुके हैं।

बता दें कि 30 साल सत्ता में रहने वाले राष्ट्रपति उमर-अल-बशीर को सेना ने हटा दिया था। इसको लेकर सेना के मुख्यालय के बाहर भारी प्रदर्शन हुए थे। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि निष्पक्ष चुनवा कराने के लिए ज्यादा वक्त मिलना चाहिए। लोगों का यह भी कहना है कि देश में नागरिक शासन को तेजी से लागू किया जाए।

लोग मांग कर रहे हैं कि सेना की केवल सीमित भागीदारी हो। वहीं पूर्वी सूडान में कबीलाई गुटों के बीच अक्‍सर झड़पें भी देखने को मिलती हैं, जिनमें कई लोगों की जान जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उदय दिनमान’ एक वैचारिक आंदोलन भी है। इस आंदोलन का सरोकार आर्थिकी, राजनीति, समाज, संस्कृति, इतिहास व विकास से है। अकेले उत्तराखंड की बात करें तो यह क्षेत्र सदियों से न केवल धार्मिक आस्थाओं का केंद्र रहा है, बल्कि यह क्षेत्र मानव सभ्यता-संस्कृति का उद्गम स्थल भी समझा जाता रहा है। आधुनिक समय में विकास की अवधारणा के जन्म लेने के साथ हिमालयी समाज-संस्कृति को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। ये चुनौतियां हमारी संस्कृति पर निरंतर प्रहार कर इसे गहरा आघात पहुॅचाने में तुली हुई है। हालांकि, सामाजिक, शारीरिक, आर्थिक आदि कष्टों के बावजूद यह संस्कृति अपने ताने-बाने से छिन्न-भिन्न नहीं हो सकी है। मगर निरंतर जारी प्रहारों से एकबारगी चितिंत होना स्वाभाविक है। ‘उदय दिनमान’ का प्रयास है कि राजनीति, समाज, संस्कृति, इतिहास, विकास व आर्थिकी पर निरंतर हो रहे आघातों से जनमानस को सजग रखने का प्रयास किया जाए। यह कहकर हम कोई बड़ा दंभ नहीं भर रहे हैं। यह हमारा मात्र एक लघु प्रयास भर है। हमारी अपेक्षा व आकांक्षा है कि हमारे इस प्रयास में आपकी भागीदारी ही नहीं सुनिश्चित हो, बल्कि आपके विस्तृत अनुभवों, विचारों, सुझावों व गतिविधियों का लाभ ‘उदय दिनमान’ के द्वारा व्यापक जनमानस तक पहुंचे। उक्त क्रम में ‘उदय दिनमान’ के प्रयासों को बल प्रदान करने के निमित आप अपने अनुभवों, सुझावों व विचारों को लेख अथवा यात्रावृत्त, संस्मरण, रिर्पोट, कथा-कहानी, कविता, रेखाचित्र, फोटो आदि के रूप में प्रेषित करने का कष्ट करें। संपर्क करें। https://www.udaydinmaan.com/ संतोष बेंजवाल संपादक कन्हैया विहार, निकट कारगी चैक, देहरादून (उत्तराखंड) udaydinmaan@gmail.com Phone:0135-3576257 Mob:+91.9897094986 Email: udaydinmaan@gmail.com