25 मौतों की पुष्टि, मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख देगी सरकार

पौड़ी: पौड़ी जिले में बरातियों से भरी बस खाई में गिर गई। कल देर रात राहत बचाव कार्य चलाने के बाद आज बुधवार को तड़के दोबार रेक्‍क्‍यू शुरू किया गया। डीजीपी अशोक कुमार के अनुसार अब तक खाई से 25 शव बरामद किए जा चुके हैं। बस में करीब 45 लोग सवार थे।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने 4 अक्तूबर को पौड़ी की घटना में प्रभावितों को आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। जिसके तहत मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रूपये, गम्भीर घायल को 1-1 लाख रूपये और सामान्य घायल को 50-50 हजार रूपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को प्रभावितों को तत्काल सहायता राशि उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं।

मुख्यमंत्री ने रेस्क्यू कर रहे एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, फायर ब्रिगेड, स्थानीय पुलिस, राजस्व पुलिस और इस कार्य में लगे विभिन्न विभागीय कार्मिकों को तेजी से रेस्क्यू कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्थानीय प्रशासन को घायलों का त्वरित और समुचित उपचार करने के निर्देश दिए। प्रभावित परिवारों से मुलाकात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि घायलों को उचित उपचार दिया जा रहा है। राज्य सरकार की ओर से प्रभावितों को हर संभव मदद दी जायेगी।

दुर्घटनास्‍थल का जायजा लेने के बाद मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंंह धामी कोटद्वार हॉस्पिटल पहुंचे। यहां उन्‍होंने घायलों का हालचाल जाना। इस अवसर पर उनके साथ पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक भी मौजूद रहे।राज्‍य आपदा परिचालन केन्‍द्र के अनुसार अब तक घटना स्थल से 20 घायलों का रेस्‍क्‍यू किया गया है। घायलों को विभिन्‍न अस्‍पतालों में भर्ती किया गया है। इनमें से 18 गंभीर घायल हैं और दो लोग सामान्‍य घायल हैं। वहीं 10 शव खाई से निकाले गए हैं।

रेस्क्यू किए गए घायलों का नाम पता :-
1- सैन सिंह पुत्र नामालूम, निवासी कोटद्वार, उम्र लगभग 45 वर्ष (कोटद्वार हॉस्पिटल में मौत)
2- अंजलि पुत्री धीरेन्द्र, निवासी-लालढांग, उम्र लगभग 17 वर्ष (कोटद्वार हॉस्पिटल से रेफर)
3- गौरव पुत्र तेजपाल, निवासी- अमोला, यमकेश्वर, उम्र लगभग 25 वर्ष
4- धनवीर पुत्र वीरेन्द्र, निवासी-उपरोक्त उम्र लगभग 18 वर्ष
5- धीरेन्द्र पुत्र ज्ञान सिंह, निवासी चांद द्वारिखाल, डाडामण्डी, उम्र लगभग 48 वर्ष
6. जयपाल पुत्र मोहन, निवासी लालढांग, उम्र लगभग 43 वर्ष। 7- पंकज नारंग पुत्र राकेश, निवासी लालढांग, उम्र लगभग 24 वर्ष
8- आकाश पुत्र धीरेन्द्र प्रसाद, निवासी- उपरोक्त उम्र लगभग 15 वर्ष 10
9- सुमित पुत्र धर्मपाल, निवासी लालढांग, उम्र लगभग 21 वर्ष
10- सादान पुत्र मुस्तकीम खान, निवासी बिजनौर उम्र लगभग 18 वर्ष
11- शिवानी पुत्री अनिल सिंह, निवासी लालढांग, उम्र लगभग 04 वर्ष
12- आदित्य पुत्र धनवीर सिंह निवासी दुगड्डा कोटद्वार, उम्र लगभग 11 वर्ष
13- पूजा पत्नी कुलदीप, निवासी-लालढांग, उम्र लगभग 30 वर्ष
14- पूनम पत्नी धनवीर निवासी उपरोक्त उम्र लगभग 32 वर्ष
15- मोहित पुत्र काशीनाथ, निवासी-लागढांग, उम्र लगभग 40 वर्ष
16- मथुरा प्रसाद पुत्र चण्डीप्रसाद, निवासी-यूसाचौड, तहसील कोटद्वार, उम्र लगभग 51 वर्ष
17- निखिल पुत्र ममराज, निवासी-मण्डावली, बिजनौर, उम्र लगभग 15 वर्ष
18- आशा देवी पत्नी अशोक निवासी कलालघाटी, कोटद्वार आ लगभग 31 वर्ष
19-अनूप पुत्र जगदीश, निवासी-पैलढागी, यमकेश्वर, उम्र लगभग 20 वर्ष
20. विशाल पुत्र बाबू निवासी जालपुर नजीबाबाद बिजनौर 30प्र0

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने घटना पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड में बस के घाटी में गिरने पर कई लोगों के हताहत होने की दुर्घटना से दुखी हूं। इस दुर्घटना में अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी गहरी शोक-संवेदनाएं। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं।

बताया जा रहा है कि दुर्घटनाग्रस्‍त हुई बस में करीब दोगुने यात्री सवार थे। बस 28 सीटर थी और इस बस में करीब 45 लोग सवार थे। इस वजह से ओवर लोडिंग को भी हादसे का एक कारण माना जा रहा है।

घटनास्‍थल से अब तक 13 शव निकाले जा चुके हैं। वहीं अब तक 25 बस सवार लोगों की मौत की आशंका है। बताया जा रहा है कि करीब तीन सौ मीटर गहरी खाई में गिरी बस चट्टान पर अटकी हुई है और बस के अंदर भी कई शव फंसे होने की आशंका है।

वहीं घटना में जिलाधिकारी डॉक्‍टर विजय कुमार जोगदंडे ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। उन्‍होंने घटना की मजिस्ट्रियल जांच के लिए उप जिलाधिकारी और मजिस्ट्रेट थलीसैंण को जांच अधिकारी नामित करते हुए 15 दिन के भीतर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।

बताया जा रहा है कि कमानी (पट्टा) टूटने के कारण बस अनियंत्रित हो गई और खाई में जा गिरी। घटना शाम चार बजे की बताई जा रही है। श्रीनगर, रुद्रपुर, खैरना, नैनीताल, अल्मोड़ा से एसडीआरएफ की टीम राहत बचाव कार्य में लगी है।घटनास्‍थल पर पहुंच कर मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने जायजा लिया। उन्‍होंने राहत बचाव अभियान की जानकारी ली। इस दौरान हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक भी उनके साथ मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी व पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक हेलीपैड तल्ली पखोली पहुंचे। यहांं से वह घटना स्थल ग्राम सिमडी के लिए रवाना हो गए हैं। सिमडी में वह राहत बचाव कार्यों का लेंगे जायजा।

हादसे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है। उन्‍होंने कहा कि उत्तराखंड के पौड़ी जिले में हुई बस दुर्घटना मन को व्यथित करने वाली है। इस घटना में जिन लोगों ने अपनों को खोया है उनके प्रति मैं अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। ईश्वर उन्हें यह भारी दुःख सहने की शक्ति दें। जो इस दुर्घटना में घायल हैं, मैं उनके स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

मुख्यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी और हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने दुर्घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया और घायलों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि सरकार घायलों को हर संभव मदद देगी। जिन परिवारों ने दुर्घटना में अपनों को खोया है, सरकार हर वक्त उनके साथ खड़ी रहेगी।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और पूर्व मुख्यमंत्री डा रमेश पोखरियाल निशंक सबसे पहले बीरोंखाल स्थित घटनास्थल पर जाएंगे और वहां बचाव व राहत कार्यों का जायजा लेंगे। साथ ही स्थानीय लोगों से बातचीत भी करेंगे। उसके बाद घायलों का हाल-चाल जानने के लिए कोटद्वार रवाना होंगे।मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी घटनास्थल ग्राम सिमडी, पौड़ी गढ़वाल के लिए रवाना हो गए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक भी उनके साथ में मौजूद हैं।

बस दुर्घटना के गंभीर घायलों को हेली सेवा के जरिए एम्स ऋषिकेश में लाया जा रहा है। वहीं दूल्‍हा पक्ष के बस हादसे का शिकार होने के बाद बुधवार की सुबह हरिद्वार के लालढांग में सन्‍नाटा पसरा रहा। यहां बाजार बंद रहे और सड़कें सुनसान दिखीं। बता दें कि बरात लालढांग से ही पौड़ी के लिए चली थी।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने पौड़ी बस हादसे पर दुख व्‍यक्‍त किया है। उन्‍होंने इस संबंध में ट्वीट कर अपनी संवेदना प्रकट की है। उन्‍होंने लिखा कि उत्तराखंड के पौड़ी में हुआ बस हादसा दिल दहला देने वाला है। इस दुखद घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मुझे उम्मीद है कि जो लोग घायल हुए हैं वे जल्द से जल्द ठीक हो जाएं। बचाव कार्य जारी है। प्रभावितों को हर संभव मदद मुहैया कराई जाएगी।

दूल्हा और उसकी दो बहनें दूसरी गाड़ी में सवार थे। दूल्हे का भाई बस में सवार था। घटना के बाद दूल्हा भी घटनास्थल पर ही है। वधू पक्ष के लोग भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। शादी को दोनों पक्षों ने कहा है कि फिलहाल टाल दी है। बुधवार को इस बारे में कोई निर्णय लिया जाएगा।

मुख्‍यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने बुधवार के सभी कार्यक्रम रद कर दिए हैं। वह घटनास्‍थल पर जाएंगे और पीडि़तों का हालचाल जानेंगे। हादसे के बाद सीएम मंगलवार की शाम सचिवालय स्थित आपदा कंट्रोल रूम पहुंचे और हादसे की जानकारी ली। उन्‍होंने सचिवालय में अधिकारियों के साथ बैठक की।

मुख्यमंत्री धामी ने लैंसडाउन विधायक दिलीप रावत से फोन पर बात की। मुख्यमंत्री धामी ने पौड़ी के जिलाधिकारी से भी फोन पर राहत बचाव की जानकारी ली। इस दौरान उन्‍होंने राहत बचाव में किसी भी स्तर पर देरी न होने देने के निर्देश दिए।

बस लैंसडौन के सिमड़ी गांव के पास करीब साढ़े तीन सौ मीटर गहरी खाई में गिर गई। हादसे में अब तक 25 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।जो बस हादसे की शिकारी हुई वह बस हरिद्वार जनपद के लालढांग से बरात लेकर बिरोंखाल ब्‍लॉक के अंतर्गत कांडा तल्ला गांव जा रही थी।

जिलाधिकारी ने राहत कार्यों की जानकारी ली। वहीं धुमाकोट थाना प्रभारी दीपक तिवारी ने बताया कि दुर्घटना में घायल 20 लोगों को रिखणीखाल स्वास्थ्य केंद्र में भेजा गया है। बताया कि स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के दौरान तीन घायलों की मौत हो गई। वहीं घटना स्थल से कुछ दूर दुनाव गांव में हेलीपैड बनाया गया है। मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी घटना स्‍थल पर पहुंचने वाले हैं। उनका हेलीकॉप्टर यही लैंड होगा।

सिमड़ी के संमीप हुई बस दुर्घटना में राहत एवं बचाव कार्य पूरी रात चला। अलग-अलग स्थानों से पहुंची राहत बचाव टीमों ने खाई में गिरे घायल लोगों को बाहर निकालकर स्वास्थ्य केंद्रों में उपचार के लिए भेजा। मौके पर मौजूद ग्राम कांडा तल्लाह निवासी बृजेश ने बताया कि दुर्घटना में करीब 15 लोगों को उपचार के लिए भेजा गया है। जबकि अन्य की मौत हो गई। बताया कि बस में 45 लोग बताए जा रहे हैं।

उत्‍तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा है कि मंगलवार की रात पौड़ी में हुए हादसे में अब तक 25 लोगों की मौत हो गई है। पुलिस और एसडीआरएफ ने रात भर राहत बचाव अभियान चलाया। घायलों को नजदीकी अस्‍पतालों में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के मुताबिक हरिद्वार जिले के लालढांग के कटेवड़ गांव से पौड़ी के कांडा तल्ला जा रही बस लैंसडौन के सिमड़ी गांव के पास करीब साढ़े तीन सौ मीटर गहरी खाई में गिर गई। हादसे में अब तक 25 लोगों की मौत हो गई है। देर रात तक करीब 12 शव निकाले जा चुके थे। बस में करीब 45 लोग सवार थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.