900 करोड़ की धन वर्षा, चहका बाजार

देहरादून : दो साल के बाद इस बार धनतेरस पर बाजार में खूब धन बरसा। अनुमान है कि बाजार में 900 करोड़ रुपये की धनवर्षा हुई। व्यापारियों द्वारा हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए तैयार की गई वस्तुओं की लोग ने जमकर खरीदारी की।

ज्वेलरी बाजार जहां चहका रहा वहीं बर्तन बाजार भी खूब खनक उठा। अभी दीपावली को एक दिन बचा है ऐसे में बेहतर कारोबार को देखते हुए कारोबारियों के चेहरे भी खिले हुए हैं।

धनतेरस पर वाहन, संपत्ति, सोना, चांदी, बर्तन, खरीदने का महत्व है। कोरोनाकाल की बंदिशें हटने के बाद इस बार लोग ने सोना चांदी खरीदने में अधिक रुचि दिखाई और खूब खरीदारी की।

शनिवार सुबह से ही पलटन बाजार, धामावाला बाजार, हनुमान चौक, प्रेमनगर, राजपुर रोड, चकराता रोड, धर्मपुर समेत विभिन्न क्षेत्रों में खासतौर पर ज्वेलरी के अलावा बर्तनों की दुकानों से काफी भीड़ उमड़ी रही। विभिन्न डिजाइन गिफ्ट पैक में तैयार की गई ज्वेलरी व बर्तनों का सेट की मांग अधिक रही। वहीं विशेष छूट और आफर का भी ग्राहकों ने लाभ उठाया।

ज्वेलरी बाजार की बात करें तो बीते वर्ष के मुकाबले इस बार डेढ़ गुना कारोबार बढ़ा। युवा सराफा मंडल देहरादून के महासचिव गौरव रस्तोगी ने बताया कि इस बार कारोबार काफी अच्छा रहा। एडवांस बुकिंग के साथ ही आज धरतेरस के दिन सेल्समैन को फुर्सत नहीं मिली।

वहीं ज्वेलरी की दुकानों में पांच ग्राम से अधिक के सिक्के, लक्ष्मी गणेश की चांदी की मूर्तियां, सिंहासन, पूजा थाल खरीदने का ग्राहकों में विशेष क्रेज दिखा। इसके अलावा थाली, कटोरी, गिलास, घंटी, दीये की भी मांग रही।

सेफाली ज्वेलर्स के स्वामी अमित गोयल ने बताया कि इस बार मेकिंग डिजाइन पर छूट और 20 हजार से अधिक की खरीदारी पर कई चीजों में गिफ्ट के आफर दिए गए, जिसका ग्राहकों ने लाभ उठाया। सर्राफा मंडल देहरादून के अनुसार, सोमवार को सोना 23 कैरेट 49910, जबकि 22 कैरेट 47630 प्रति 10 ग्राम जबकि चांदी 59100 रुपये प्रति किलो रहा।

झंडा बाजार स्थित बर्तन भंडार के स्वामी कमल स्वरूप ने बताया कि बीते वर्ष के मुकाबले स्टील, तांबा, पीतल के बर्तनों के दाम में तीन से चार प्रतिशत बढ़ोतरी हुई। जिसका मुख्य कारण ट्रांसपोर्ट महंगा होना है। हालांकि ग्राहकों की जेब पर इसका असर नहीं पड़ा क्योंकि वह इस विशेष दिन पर खरीदारी अवश्य करते हैं।

मोती बाजार स्थित निधि स्टील के स्वामी सुमित वासुदेव ने बताया कि उम्मीद के मुताबिक कारोबार काफी अच्छा रहा। सुबह के वक्त भले ही ग्राहक सीमित थे लेकिन शाम के वक्त ज्यादा कारोबार हुआ।

इस बार खास बात रही कि पहले जहां लोग धनरतेरस पर बिना कंपनी पूछे कोई भी बर्तन खरीद लेते थे। लेकिन अब विभिन्न कंपनियों के बर्तन की मांग कर रहे हैं। इससे ग्राहकों की जागरूकता भी देखी जा रही है।

दीपोत्सव पर्व पर एक दूसरे को देने के लिए अब अधिकांश लोग गिफ्ट पैक्ड की ओर जा रहे हैं। फिर चाहे मिठाई हो, जूस अथवा ड्राइ फ्रूट। इसके अलावा जिसे दीपावली पर जो भी पसंद आ रहा है अपने अनुसार उसकी बास्केट बनवा रहे हैं। शहर के विभिन्न माल व शापिंग स्टोर में यह क्रेज अधिक नजर आ रहा है।

सुविधा सुपर मार्केट के ओनर गर्वित अग्रवाल ने बताया कि त्योहार के सीजन में खुली मिठाई में मिलावट की आशंका अधिक रहती जिससे वह ज्यादा दिन तक नहीं टिकती।

ऐसे में ग्राहक हल्दीराम, बिकानो, कैडबरी, पारले, आइटीसी समेत कई नामी कंपनियों की मिठाई, जूस, नमकीन, चाकलेट, केक पसंद कर रहे हैं। दो साल के बाद घरों में विशेष उल्लास के साथ दीपोत्सव मनाया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.