जेल के प्रति समाज को नजरिया बदलने की जरूरत: अमित शाह

अहमदाबाद। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज गुजरात के एक दिवसीय दौरे पर हैं। तय कार्यक्रम के तहत शाह ने सबसे पहले अहमदाबाद में स्मार्ट स्कूलों को उद्घाटन किया।

इसके बाद वे अखिल भारतीय जेल ड्यूटी मीट में शामिल होने पहुंचे हैं। इस मौके पर गृह मंत्री ने कहा कि समाज को जेल के प्रति अपना नजरिया बदलने की जरूरत है। अमित शाह ने कहा कि जेल में बंद प्रत्येक व्यक्ति स्वभाव से अपराधी नहीं होता। कभी-कभी परिस्थितियां उसे अपराध के लिए मजबूर कर देती हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि समाज को चुस्त दूरुस्त रखने के लिए अपराधियों को सजा देना भी जरूरी होता है। दंड नहीं होगा तो भय नहीं होगा। जब भय ही नहीं होगा तो अनुशासन भी कायम नहीं रह सकता है। अमित शाह ने कहा कि जो लोग जन्मजात और स्वभाव से अपराधी नहीं है, उन्हें समाज में पुनर्स्थापित करने के लिए जेल प्रशासन को पहल करनी चाहिए।

इससे पहले केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने अहमदाबाद में 4 स्मार्ट स्कूलों का उद्घाटन किया। उद्घाटन समारोह के कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान गृह मंत्री ने कहा कि अहमदाबाद शहर में 22 अनुपम स्मार्ट स्कूल बनकर तैयार हैं और आज इनमें से चार स्कूल शुरूआत हो रही है। शाह ने कहा कि इन स्कूलों के माध्यम से 3200 से अधिक छात्र लाभान्वित होंगे।

बता दें कि एक दिवसीय दौरे के दौरान गृह मंत्री अमित शाह गुजरात के अहमदाबाद के तीन कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। अहमदाबाद नगर निगम के अनुपम स्मार्ट स्कूलों के उद्घाटन के बाद गृह मंत्री अमित शाह अखिल भारतीय जेल ड्यूटी मीट में भी शामिल हुए हैं।

इसके बाद 36वें राष्ट्रीय खेल-2022 के कर्टेन रेजर और 11वें खेल महाकुंभ के समापन समारोह में शाम करीब 7 बजे ट्रांसस्टेडिया, कांकरिया में गृह मंत्री भाग लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.