ग्राम प्रधानों को उत्कृष्ट कार्य करने पर पुरस्कृत कर सम्मानित किया

रुद्रप्रयाग :उत्तराखंड राज्य की 22वें स्थापना दिवस को अगस्त्यमुनि के खेल मैदान में धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अमरदेई शाह, विधायक केदारनाथ श्रीमती शैला रानी रावत, अध्यक्ष नगर पंचायत अगस्त्यमुनि श्रीमती अरुणा बेंजवाल, तिलवाड़ा श्रीमती संजू जगवाण, ब्लाॅक प्रमुख अगस्त्यमुनि विजया देवी जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। राज्य स्थापना दिवस पर खेल विभाग द्वारा विभिन्न विधाओं में खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

साथ ही विभिन्न विभागों में कार्यरत अधिकारी व कार्मिकों, महिला स्वयं सहायता समूहों, व ग्राम प्रधानों को उत्कृष्ट कार्य करने पर पुरस्कृत कर सम्मानित किया गया। आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथियों द्वारा जनपद के शहीद राज्य आंदोलनकारी यशोधर बेंजवाल की पत्नी श्रीमती उमा देवी बेंजवाल व अशोक कैशिव के भाई मनोज कैशिव को शाॅल ओढ़कर सम्मानित किया गया। इससे पूर्व विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं द्वारा मार्च फास्ट का आयोजन किया गया।

राज्य स्थापना के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अमरदेई शाह ने कहा कि राज्य गठन के लिए अपने प्राणों की आहुति देते हुए आंदोलनकारियों को शत-शत नमन करते हुए श्रद्धा-सुमन अर्पित किए।

उन्होंने कहा कि शहीदों के सपनों को साकार करने के लिए उत्तराखंड की प्रगति एवं खुशहाली के लिए सभी को मिलजुल कर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राज्य गठन के 22 वर्ष पूर्ण हो गए हैं जिसमें सरकार द्वारा निरंतर राज्य की प्रगति के लिए कार्य किया जा रहा है।  राज्य की प्रगति के लिए महिलाओं की अहम भूमिका है।

केदारनाथ विधायक श्रीमती शैला रानी रावत ने राज्य स्थापना दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि राज्य गठन के 22 वर्ष पूर्ण हो गए हैं इसके लिए उन्होंने राज्य के निर्माण में अपने प्राणों को न्यौछावर करने वाले आंदोलनकारियों को शत-शत नमन करते हुए श्रद्धा-सुमन अर्पित किए। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड गठन में शहीदों के त्याग एवं बलिदान का ही प्रतिफल है कि हम आज 22वा ंस्थापना दिवस मना रहे हैं ।

शहीदों के सपनों को पूर्ण करने के लिए राज्य की खुशहाली एवं प्रगति के लिए सभी को मिलजुल कर कार्य करने की आवश्यकता है। इसमें मातृ शक्ति का महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि मा. प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नेतृत्व में उत्तराखंड प्रगति एवं उन्नति के पथ पर अग्रसर है तथा हर वर्ग के लिए अनेक जन कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही हैं।
उन्होंने जिलाधिकारी की प्रशंशा करते हुए कहा कि जनपद का सौभाग्य है कि हमें युवा जिलाधिकारी मिला है, जिनके कुशल नेतृत्व एवं निर्देशन में केदारनाथ की यात्रा का सफल संचालन किया गया है जिसमें देश-विदेश से आए श्रद्धालुओं ने बाबा केदारनाथ के दर्शन कर एक नया रिकाॅर्ड बनाया है जिससे कि सभी ने यात्रा के सफल संचालन के लिए की गई व्यवस्थाओं की जिला प्रशासन की सराहना की है।

उन्होंने कहा कि मंदाकिनी शरदोत्सव एवं कृषि औद्योगिक मेले में विभिन्न विभागों द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है तथा महिला समूहों द्वारा अपने उत्पादों के मेले में स्टाॅल लगाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि आने वाले मेले को और अधिक भव्य बनाने एवं योजनाओं की जानकारी आम जन तक उपलब्ध कराने के लिए सभी अधिकारियों को और अधिक ढंग से कार्य करने की आवश्यकता है ताकि सुदूर क्षेत्र में रह रहे आम जन को योजनाओं की जानकारी उपलब्ध हो सके।

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने 22वें राज्य स्थापना दिवस की जनपद वासियों को बधाई व शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हम सभी को राज्य आंदोलन में शहीद हुए आंदोलनकारियों के सपनों को साकार करने के लिए अपने कत्र्तव्यों एवं दायित्वों का निर्वहन पूरी निष्ठा के साथ करना होगा ताकि हमारा राज्य प्रगति के पथ पर निरंतर अग्रसर हो।

उन्होंने कहा कि मा. मुख्यमंत्री द्वारा कई महत्वकांक्षी योजनाएं संचालित की जा रही हैं जिनका लाभ आम जन तक पहुंचाने के लिए हमको मिलजुल कर कार्य करने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि केदारनाथ यात्रा को सफल संचालन करने में सभी अधिकारियों व कर्मचारियों ने बेहतर ढंग से कार्य किया है तथा 6 माह की यात्रा निर्वादित ढंग से संचालित हुई है। उन्होंने कहा कि मेले के सफल संचालन के लिए और अधिक बेहतर प्रयास किए जाएंगे ताकि मेलों के माध्यम से योजनाओं का लाभ आम जन को उपलब्ध हो सके।

राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी के निर्देशन में विभिन्न विभागों द्वारा कई कार्यक्रम आयोजित किए गए जिसमें युवा कल्याण, खेल विभाग व शिक्षा विभाग द्वारा अलग-अलग विधाओं में खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

खेल विभाग द्वारा कबड्डी, बैडमिंटन तथा बाॅलीबाल का आयोजन किया गया जिसमें विजेता टीम को पुरस्कृत कर सम्मानित किया गया। जनपद स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता में तिलवाड़ा की टीम विजेता रही। बाॅलीवाल में बावई ने प्रथम स्थान तथा जखोली की टीम ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया।

ओपन बैडमिंटन प्रतियोगिता में नवीन बिष्ट व पवन कोठियाल ने पहला, विक्की कुंवर व रिजवान सिद्धकी ने दूसरा तथा अजीत व प्रमोद ने तीसरा स्थान हासिल किया। बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान में स्वस्थ बेबी शाॅ प्रतियोगिता के दौरान 07 माह से 03 वर्ष तक आयुवर्ग में चार तथा 03 से 06 वर्ष तक तीन बच्चों का चयन किया गया।

निबंध प्रतियोगिता के तहत सीनियर वर्ग में अ.प्र. स्कूल गंगानगर के कक्षा 12वीं के छात्र आलोक भंडारी ने पहला, केंद्रीय विद्यालय में अध्ययनरत 12वीं के छात्र प्रियांशु बुटोला ने दूसरा राइंकाॅ. अगस्त्यमुनि 9वीं के छात्र कृष रावत ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। जूनियर वर्ग में काजल, राही रावत व अंश रावत ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान हासिल किया।

राज्य स्थापना दिवस पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले विभिन्न विभागीय अधिकारी व कर्मचारियों को पुरस्कृत किया गया। इनमें बाल विकास विभाग में कार्यरत सरिता देवी व सुनीता देवी सहित खंड विकास कार्यालय ऊखीमठ में जीतपाल सिंह, कुशाल सिंह बिष्ट, हेमंत कुमार तिवारी, प्रीतम पंवार, पंकज बुटोला, अब्दुल कादिर, गजेंद्र प्रसाद उनियाल, हिमांशु नौटियाल, रवींद्र सिंह नेगी, दीपेंद्र सिंह, विपिन रावत आदि सहित कुल 30 कार्मिकों को पुरस्कृत किया गया।

इसके साथ ही कृषि के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 06 कृषक, उत्कृष्ट कार्य करने वाले 03 ग्राम प्रधान, स्वच्छता पखवाड़े के तहत 03 ग्राम पंचायतों जिनमें जखोली विकास खंड के अंतर्गत मवांणगांव, ऊखीमठ की त्यूड़ी तथा अगस्त्यमुनि की ग्राम पंचायत फलई को सम्मानित किया गया।

03 महिला मंगल दल, तथा 10 पीआडी स्वयं सेवकों को भी पुरस्कृत किया गया। साथ ही 10 पुलिस जवान, 08 सफाई कार्मिकों को भी उत्कृष्ट कार्य करने पर राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर प्रशस्ती पत्र व स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया।

लखपति दीदी योजना के अंतर्गत 08 स्वयं सहायता समूहों का चयन किया गया। इस अवसर पर मेला समिति द्वारा जिलाधिकारी मयूर दीक्षित एवं अन्य अधिकारियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं एवं महिला मंगल दल एवं संस्कृति विभाग की टीम द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की सुंदर प्रस्तुतियां दी गई।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक विशाखा अशोक भदाणे, मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार, अपर जिलाधिकारी दीपेंद्र सिंह नेगी, जिला विकास अधिकारी मनविंदर कौर, मुख्य शिक्षा अधिकारी नागेंद्र बत्र्वाल, उप जिलाधिकारी अपर्णा ढौंडियाल, पुलिस उपाधीक्षक प्रबोध कुमार घिल्डियाल, मेला समिति के संयोजक विक्रम सिंह नेगी, महासचिव हर्षवर्धन बेंजवाल सहित जनपद स्तरीय अधिकारी एवं विभिन्न क्षेत्रों से आए जन प्रतिनिधि एवं मेलार्थी मौजूद रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन किशन रावत द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.