दो साइको शूटर्स ने 11 लोगों को गोली मारी

बेगूसराय। बिहार के बेगूसराय जिले में मंगलवार को एक के बाद एक कर 11 लोगों पर फायरिंग की घटना ने लोगों को दहला दिया। अमेरिका में इस तरह की घटनाएं होती रहती हैं, पर बिहार में ऐसी पहली घटना है, जब दो अपराधी बाइक चलाते हुए करीब 30 किलोमीटर का सफर तय करता है और इस दौरान रास्ते में आने वाले लोगों को गोलियां मारता जाता है।

गोली मारने की पहली घटना शाम करीब 5.15 बजे बछवाड़ा में हुई, जहां बाइक सवार अपराधियों ने गोधना गांव के समीप मंसूरचक थाना क्षेत्र के गोविंदपुर ओरियामा निवासी राजेश महतो के 22 वर्षीय पुत्र नीतीश कुमार को गोली मारकर घायल कर दिया। इसके बाद अपराधी वहां से मुजफ्फरपुर-बेगूसराय राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) पर आगे बढ़ गए।

पहली घटना के बाद लोगों ने समझा कि आपसी दुश्मनी वगैरह के कारण किसी ने गोली मारी है, पर उसके बाद देर शाम तक हर जगह से इसी तरह की सूचना आने लगी। घायलों को अस्पताल पहुंचाया जाने लगा, तब इलाके में दहशत फैल गई कि कोई साइको किलर घूम रहा है। दूसरी घटना तेघड़ा थाना क्षेत्र के अयोध्या चौक के पास हुई, जहां रघुनंदपुर निवासी दीपक कुमार को गोली मारी।

अपराधी 30 किलामीटर तक पिस्टल लहराते हुए बाइक से घूमते रहे और गोलियां मारते रहे, पर कहीं भी पुलिस नहीं थी। जब जगह-जगह से सूचना आने लगी, तब जानकारी हुई कि एनएच पर किलर सरेआम घूम रहा है।

तीसरी घटना आधारपुर गांव के पास हुई, जहां एक फाइनेंस कंपनी में काम करने वाले मुसादपुर बाढ़ निवासी मनोज सिंह के पुत्र विशाल सोलंकी को गोली मारी गई। यह क्रम आगे भी चलता रहा और सभी घटनाएं एनएच पर ही हुईं।

इसके बाद बरौनी थाना के पिपरा मालती चौक पर फायरिंग में पिपरा देवस वार्ड तीन के निवासी 30 वर्षीय चंदन कुमार की मौत हो गई। दूसरे घायल का इलाज चल रहा है। दोनों अपराधी इसके बाद मुजफ्फरपुर-बेगूसराय एनएच छोड़ बरौनी जीरोमाइल से पटना जाने वाले एनएच पर मुड़ गए। यहां भी थर्मल चौक पर कसहा निवासी दशरथ यादव के 45 वर्षीय पुत्र भरत यादव को दो गोलियां मारी।

पटना जिला के मरांची थाना क्षेत्र के स्व.गेहन रजक के 35 वर्षीय पुत्र प्रशांत कुमार रजक और पटना जिला के गोसाई गांव निवासी रामानंद यादव के 25 वर्षीय पुत्र रंजीत यादव को भी गोली मार दी। रंजीत मोकामा, प्रशांत कुमार मरांची, भरत यादव कसहा व जीतो पासवान मल्हीपुर निवासी हैं, जिन्हें गोली मारी गई है। स्थानीय लोग सभी को अस्पताल ले गए हैं।

लोग इस घटना से दहशत में हैं। पुलिस भी इसका कारण नहीं बता रही है। स्थानीय लोगों द्वारा यह आशंका भी जताई जा रही है कि दहशत फैलाने के लिए शराब माफिया का भी इसके पीछे हाथ हो सकता है, हालांकि अभी पुलिस की ओर से ऐसा कोई बयान नहीं दिया गया है। बेगूसराय के एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि जिले की सभी सीमा सील कर दी गई है और टीम बनाकर छापेमारी की जा रही है।

इधर, एडीजी (मुख्यालय) जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि गिरफ्तारी के लिए आसपास के सभी जिलों को अलर्ट करते हुए छापेमारी की जा रही है। डीआइजी घटनास्थल की ओर रवाना हो चुके हैं। एसपी घायलों से मिल रहे हैं। यह पता लगाया जा रहा है कि इस तरह की फायरिंग के पीछे का उद्देश्य क्या है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.