दुनिया में हो रही डिजिटल इंडिया की तारीफ

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश के नागरिकों को 75 जिलों में 75 डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स समर्पित कीं। इस मौके पर पीएम मोदी ने इन बैंकिंग यूनिट्स का लाभ देश के लोगों को गिनाया और इसे डिजिटल क्रांति में मील का पत्थर बताया। इसके साथ ही उन्होंने भारत के डिजिटलीकरण की दुनियाभर में हो रही प्रशंसा का श्रेय देश के गरीब, किसान और श्रमिकों को दिया।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार का लक्ष्य बैंकिंग सेवाओं में पारदर्शिता लाना और देश के कोने-कोने तक पहुंचाना है। इसी लक्ष्य के तहत डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स का कॉन्सेप्ट तैयार किया गया है। डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स में सुविधाएं पेपरलेस मुहैया कराई जाएंगी।

यहां पर लोगों के लिए डिजिटल लेनदेन करना अधिक सुरक्षित होगा। इससे आम लोगों की जिंदगी भी काफी आसान होगी। डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स बेहद कम इंफ्रास्ट्रक्चर पर अधिक से अधिक डिजिटल सुविधाएं उपलब्ध कराएंगी।

आगे पीएम मोदी ने कहा कि हमने तय किया है कि बैंकिंग सेवाएं गरीब के दरवाजे तक पहुंचे। इसके लिए सबसे पहले तो गरीब और बैंकों के बीच की दूरी को घटाया है। हमने शारीरिक दूरी और मनोवैज्ञानिक दूरी को भी कम कर दिया है, जो कि सबसे बड़ी बाधा थी। हमने बैंकिंग सेवाओं को देश के दूरस्थ इलाकों में पहुंचाने में सर्वोच्च प्राथमिकता दी हैं।

आगे पीएम मोदी का कहा है कि भारत के डिजिटलीकरण की पूरी दुनिया में प्रशंसा हो रही है। विश्व बैंक का कहना है कि भारत डिजिटलीकरण के माध्यम से सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने में अग्रणी देश बन गया है। टेक्नोलॉजी क्षेत्र के सबसे सफल लोग भी भारत की सराहना कर रहे हैं और वे भी इसकी सफलता से चकित हैं।

इसके साथ ही उन्होंने आइएमएफ की ओर से भारत के डिजिटलीकरण को लेकर की गई प्रशंसा का भी जिक्र किया। इसका श्रेय भारत के गरीब, किसान और श्रमिकों दिया, जिन्होंने भारत के डिजिटलीकरण को बढ़-चढ़कर स्वीकार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.